Yamaha Saluto: Very Few Things to Salute

0
191

0एफज़ी सिरिज के जरिये अपने पांव मजबूती से जमाने के बाद यामहा अब अपने कस्टमर बेस का विस्तार कर रही है। रे और एल्फा स्कूटर से इसमें मदद मिली है। अभी हाल ही कम्पनी ने एक साथ दो मॉडल Saluto बाइक और फैसिनो स्कूटर को लॉन्च किया है। Saluto बाइक की पैकेजिंग से साफ लगता है कि इसके जरिये कम्पनी की कोशिश Yamaha ब्रांड को सेमी अर्बन और रूरल एरिया में ले जाने की है।
125 सीसी के पावर सैगमेंट में Honda Shine बेस्ट सेलर है और हर महिने 70 हजार यूनिट्स बिकती हैं। इसके अलावा बजाज डिस्कवर125एम, टीवीएस फीनिक्स, हीरो सुपर स्पलैंडर और यामहा की एसएस125 मौजूद है।
डिजायन एंड स्टाइल: साइड प्रॉफाइल से Saluto आपको नपी तुली नजर आयेगी। मस्क्यूलर फ्यूल टेंक और उस पर लगी क्लेडिंग Saluto का सबसे हाई पॉइंट है। लेकिन आपको बता दें कि इतने बड़े साइज के फ्यूल टेंक की कैपेसिटी सिर्फ 7.6 लीटर की है। इसका सीधा अर्थ है कि कम्पनी ने छोटे फ्यूल टेंक को प्लास्टिक क्लेडिंग में छुपाकर बड़ा बनाने की कोशिश की है। इंजीनियरिंग टीम के इस मूव को स्मार्ट कहा जा सकता है। रैड बॉडी कलर में फ्यूल टेंक ड्यून टोन है जबकि ब्लैक में ओवरऑल ब्लैक। इंजन पर फ्यूल कैप के पास लगी ब्लू कोर ब्रांडिंग की पोजिशन तो अजीब है ही क्वॉलिटी भी कमजोर है। सिल्वर फिनिश साइड पैनल से सैल्यूटो के इंजन और एक्जॉस्ट और अलॉय व्हील की मैट ब्लैक थीम को अच्छा सा कॉन्ट्रास्ट मिल रहा है। रिअर एंड पर सैल्यूटो में कुछ खास नहीं है। पांच कोण की टेललाइट दी गई और ग्रेब रेल सिल्वर फिनिश में है।
फ्रंट से देखें तो Saluto की हैडलाइट और काउल की ड्यूअल टोन एंगुलर डिजायन आपका ध्यान खींचेगी। हैडलाइट के ऊपर अलग से पायलट लैम्प दिया गया है जो फ्रंट फेशिया को नयापन देता है।
Saluto अपने सैगमेंट में सबसे लम्बी बाइक है और इसका असर रोड प्रजेंस में साफ नजर आता है। सीट लम्बी-चौड़ी और कम्फर्टेबल है। ग्राउंड क्लीयरेंस भी 180 मिमी का है और 5-स्पोक के ब्लैक मैट फिनिश वाले व्हील हैं। हॉर्न की माउंटिंग के लिये यामहा ने मैटल पीस को बॉडी फ्रेम पर अलग से वेल्ड किया है जो आंखों को चुभता है। मीटर कंसोल पूरी तरह एनेलॉग है और इसकी फिनिशिंग से साफ लगता है कि कम्पनी को जहां मौका मिला कॉस्ट कटिंग की है।
Saluto Vs competitionइंजन एंड पावर: Saluto में 125 सीसी का इंजन लगा है जिससे 8.3 पीएस पावर और 10.1 एनएम का टॉर्क मिलता है। बिल्कुल नये सिरे डवलप इस इंजन में यामहा की पेटेंटेड ब्लूकोर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है। कम्पनी का दावा है कि ब्लूकोर से फ्यूल अच्छी तरह से जलता है और पावर लॉस कम होती है। जिससे मायलेज और परफॉर्मेन्स में सुधार होता है। लेकिन इसके बावजूद Saluto पावर के मामले में अपने सैगमेंट की दूसरी बाइक्स के मुकाबले कमजोर नजर आती है। बजाज डिस्कवर125 की एम इस सैगमेंट में सबसे ज्यादा 11.3 पीएस पावर है जबकि होन्डा शाइन 10.5 पीएस पावर देती है। यहां तक कि हीरो की सुपरस्पलैंडर भी 9 पीएस की पावर के साथ Saluto से बहुत आगे है। 4 गियर की Saluto का यह ब्लूकोर इंजन इतना स्मूद भी नहीं है और चलाने पर इसकी फ्रिक्शन व वाइब्रेशन साफ महसूस होती है। हालांकि Saluto के लिये कम्पनी ने 78 किमी के मायलेज का दावा किया है और लगता है कि इस मायलेज फिगर तक पहुंचने के लिये यामहा ने पावर के साथ समझौता किया है। Saluto का बॉडी वेट सिर्फ 112 किलो है और इस लिहाज से यह अपने सैगमेंट में सबसे कम वजन की बाइक है। 
राइड एंड कम्फर्ट: सीट लम्बी-चौडी है जो बॉडी को सपोर्ट देती है हैंडलबार का एंगल भी सुविधाजनक है। Saluto की सीटिंग पोजिशन अपराइट है और रोजमर्रा की अर्बन राइडिंग के लिये आरामदेह है। चारों गियर नीचे लगते हैं। Saluto की खासियत इसकी रोड प्रजेंस है। लम्बे प्लेटफॉर्म के कारण बैलेंस बहुत अच्छा है और फ्रंट टेलीस्कोपिक व रिअर ड्यूअल सस्पेंशन से Saluto की राइडिंग कंट्रोल में रहती है।
अभी Saluto को कम्पनी ने सिर्फ ड्रम ब्रेक के साथ लॉन्च किया है। लेकिन माना जा रहा है कि कम्पनी जल्दी ही इस मॉडल को ना केवल डिजायन के लिहाज से अपग्रेड करेगी बल्कि नये वैरियेंट भी लॉन्च करेगी। अभी इसमें कलर ऑप्शन भी केवल रैड और ब्लैक ही हैं।
ओवरऑल बात करें तो Saluto में ऐसा कुछ नहीं है जिससे यामहा को Salute करने का मन हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here