Maruti Suzuki का लोगो क्यों नहीं है आपकी Maruti Baleno पर?

0
1284

maruti baleno

Maruti Baleno? हां, Maruti Suzuki बनाती है, Maruti Suzuki ही बेचती है Nexa नेटवर्क पर। तो फिर Maruti Baleno पर कहीं Maruti Suzuki का लोगो या ब्रांडिंग क्यों नहीं है। ऐसा सिर्फ Maruti Baleno ही नहीं बल्कि Maruti S-cross में भी है। ये दोनों मॉडल मारुति नहीं सुजुकी ब्रांडनाम से बिकते हैं और Ignis भारत में Suzuki Motor Corpका तीसरा मॉडल होगा। Suzuki Motor Corp का गुजरात प्लांट फरवरी में शुरू हो जायेगा। 2.5 लाख यूनिट्स के पहले चरण के शुरू होने से पहले ही Suzuki Motor Corp दूसरे चरण के काम को फास्ट ट्रेक कर चुकी है। Suzuki Motor Corp के इस प्लांट में बनी गाडिय़ां Maruti Suzuki और Nexa नेटवर्क के जरिये बेची जायेंगी। यानि Suzuki Motor Corp अपनी भारतीय सहयोगी Maruti Suzuki के लिये कॉन्ट्रेक्ट मैन्यूफैक्चरर का काम करेगी। इसे आप यह भी कह सकते हैं कि मारुति बनी-बनाई गाडिय़ां सुजुकी सेे आउटसोर्स करेगी।
अब सवाल यह है कि Maruti Suzuki मारुति के होते हुये Suzuki Motor Corp भारत में इतनी रुचि क्यों ले रही है? मारुति में Suzuki Motor Corp के 56 परसेंट शेयर हैं।
Maruti Production and sales

तो जबाव ये है कि 2016 में जनवरी से नवम्बर के बीच Suzuki Motor Corp ने जापान में 726582 (सात लाख छब्बीस हजार पांच सौ बयासी) गाडिय़ां बनाईं इसके उलट Maruti Suzuki  ने 1407738 (चौदह लाख सात हजार सात सौ अढ़तीस) गाडिय़ां बनाईं। यानि Suzuki Motor Corp ने जितनी गाडिय़ां जापान में बनाईं उनसे करीब दोगुनी गाडिय़ों का प्रॉडक्शन मारुति ने भारत में किया।
जनवरी से नवम्बर के बीच Suzuki Motor Corp ने जापान में 579981 (पांच लाख उन्यासी हजार नौ सौ इक्यासी) गाडिय़ां बेचीं जबकि इन्हीं 11 महिनों में Maruti Suzuki की भारत में सेल्स 1288708 (बारह लाख अट्ठासी हजार सात सौ आठ) यूनिट्स की रही।
Maruti Suzuki का वर्ष 2016 का प्रॉडक्शन करीब 15.5 लाख यूनिट्स रहने का आंकलन है जबकि Suzuki Motor Corp का जापान में 7.75 लाख यूनिट्स का प्रॉडक्शन प्लान है यानि यहां भी मारुति अपनी जापानी पेरेंट कम्पनी सुजुकी के मुकाबले दोगुनी है।
यदि Suzuki Motor Corp के कुल ग्लोबल प्रॉडक्शन को देखा जाये जनवरी-नवम्बर के बीच कम्पनी ने 2719024 (सत्ताईस लाख उन्नीस हजार चौबीस) गाडियां बनाईं जबकि Maruti Suzuki ने अकेले भारत में 1407738 (चौदह लाख सात हजार सात सौ अढ़तीस) यूनिट्स का प्रॉडक्शन किया। इस तरह Suzuki Motor Corp के ग्लोबल प्रॉडक्शन में मारुति का हिस्सा 50 परसेंट को भी पार कर चुका है।
ईटी की रिपोर्ट के अनुसार मार्केट वैल्यूएशन के लिहाज से भी मारुति अपनी जापानी मूल कम्पनी Suzuki Motor Corp पर भारी पड़ रही है। इस रिपोर्ट में कहा गया कि Maruti Suzuki का मार्केट वैल्यूएशन 19.73 बिलियन डॉलर के लेवल पर पहुंच गया जबकि Suzuki Motor Corp का तब मार्केट वैल्यूएशन 19 बिलियन डॉलर ही था। Tata Motors को पीछे छोड़ Maruti Suzuki देश की सबसे ज्यादा मार्केट वैल्यूएशन वाली ऑटोमोबाइल कम्पनी बन चुकी है। 30 दिसम्बर को Suzuki Motor Corp की मार्केट वैल्यू 2.02 ट्रिलियन येन यानि 1.17 लाख करोड़ रुपये है जबकि मारुति सुजुकी की 1.66 लाख करोड़ रुपये।
जापान में Suzuki Motor Corp के प्रॉडक्शन में गिरावट का दौर लगातार 21 महिने चलने के बाद नवम्बर में जाकर थमा। 2016 में सुजुकी का जापान में प्रॉडक्शन 6 साल में सबसे कम है। जबकि यदि मारुति के पास प्रॉडक्शन कैपेसिटी होती तो सेल्स वॉल्यूम कहीं ज्यादा होता।

2.0 रोडमैप के अनुसार Maruti Suzuki  2020 तक 20 लाख गाडिय़ां बनाने और बेचने का टार्गेट लेकर चल रही है जो कि पीवी मार्केट का करीब 50 परसेंट होगा। यानि भारत स्वीट स्पॉट के रूप में चमक रहा है और Suzuki Motor Corp को यह नजर आ रहा है और इसीलिये भारत पर दांव बढ़ा रही है और इसीलिये Maruti Baleno पर Maruti Suzuki का लोगो नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here