“वन कार-वन फैमिली” से घट सकता है Traffic Jam ?

0
329

one-car-family traffic jamऑटो इंडस्ट्री के इन दिनों दिन अच्छे नहीं चल रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट व ग्रीन ट्रिब्यूनल के बाद देश के अलग-अलग हाईकोर्ट पॉल्यूशन और Traffic Jam के लिये अपने-अपने फॉर्मूूले सुझा रहे हैं। मुम्बई हाईकोर्ट ने शहर में Traffic Jam से निपटने के लिये समेकित नीति बनाने का सुझाव दिया है। हाईकोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को गाडिय़ों की संख्या पर लगाम लगाने के लिये वन कार-वन फैमिली के फॉर्मूले को लागू करने पर विचार करने को कहा है। कोर्ट ने सरकार ने इनलैंड वॉटर ट्रान्सपोर्ट को बढ़ावा देने को भी कहा है।

जस्टिस वीएम कानाडे की अगुवाई वाली खंडपीठ ने ग्रेटर मुम्बई म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन, एमएमआरडीए और शहरी विकास विभाग को साथ बैठकर ट्रेफिक की समस्या का सही हल निकालने का निर्देश दिया है।

कोर्ट ने दरअसल शहर में चिन्हित पार्किंग स्पेस की कमी को लेकर दायर की गई एक जनहित याचिका की सुनवाई करते हुये यह निर्देश दिये। कोर्ट ने कहा कि इन दिनों हर फैमिली में दो-दो गाडिय़ां हैं जिस पर लगाम लगाने की जरूरत है और वन कार-वन फैमिली के फॉर्मूले को लागू करने की आवश्यकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here