Test Drive: Tata Tigor कॉम्पैक्ट सेडान कैसी है आपके लिए

0
757

Tigor carStyleback डिजायन वाली Tata Tigor का मुकाबला मारुति डिज़ायर, होन्डा अमेज़, फोर्ड एस्पायर, टाटा ज़ेस्ट, फोक्सवैगन आमियो और ह्यूंदे एक्सेंट आदि मॉडलों से है। कॉम्पेक्ट सेडान मॉडलों का यह सैगमेंट सिकुड़ रहा है और इसमें नये मॉडलों के आने से कम्पीटिशन भी बढ़ रहा है। Tata Tiago को आये एक साल हो गया और इसे मिले रेस्पॉन्स का अंदाजा इस बात से लग सकता है कि यह महिने में एवरेज 5 हजार बिक रही हैं।

Tata Tigor भी टियागो पर ही आधारित है लेकिन जहां बाकी कॉम्पेक्ट सेडान मॉडलों की शुरूआती करीब 5.5 लाख रुपये से होती है वहीं Tata Tigor को कम्पनी ने 4.70 लाख रुपये की दिल्ली एक्स-शोरूम प्राइस पर लॉन्च किया है। सैगमेंट के दूसरे मॉडलों के मुकाबले 70-80 हजार रुपये कम प्राइस होना Tata Tigor के पक्ष में जाता है और यहीं से इसके लिये कामयाबी का रास्ता खुलता है।

tigor carडिजायन एंड स्टाइल: Tata Tigor चूंकि टियागो पर आधारित है ऐसे में आपको कम से कम फ्रंट और साइड प्रॉफाइल से दोनों एक जैसी नजर आती हैं। लेकिन फिर भी कम्पनी ने ऐसे कई ट्रीटमेंट किये हैं जिनसे Tata Tigor का फ्रंट टियागो से अलग नजर आता है। टीगोर में हेक्सागोनल ग्रिल है और हैडलैम्प को भी ब्लैक स्मोक किया गया है। टीगोर के हैडलैम्प में प्रॉजेक्ट बीम लैंस भी हैं साथ ही क्रोम लाइनिंग भी दी गई है जिनसे यह बहुत फ्रेश महसूस होती है।

साइड प्रॉफाइल से देखें तो डिजायन बहुत एअरोडायनामिक है। बोल्ड शोल्डर व स्कर्ट लाइन, ब्लैक बी-पिलर और उभरे हुये व्हील आर्च के अलावा बहुत नफासत से जुड़ा बूट Tata Tigor को सैगमेंट में सबसे अलग पहचान देते हैं।
टियागो के मुकाबले Tata Tigor का व्हील बेस 50 मिमी बड़ा है और यह टियागो से 276 मिमी लम्बी है इसलिये रोड प्रजेंस बहुत अच्छी महसूस होती है और इसका फायदा इंटीरियर स्पेस में भी मिलता है। सैगमेंट के बाकी मॉडल जहां हैचबैक के बेढब से सेडान अवतार महसूस होते हैं वहीं Tata Tigor में कूपे वाला कैरेक्टर है और रूफलाइन पीछे की ओर ढलती हुई मर्ज होती है। इस खास डिजायन को कम्पनी स्टाइलबैक कह रही है। बूटलिड पर क्रोम स्ट्रिप दी गई है और स्पॉयलर के साथ फुललैंथ एलईडी स्टॉप लैम्प से भी टीगोर का प्रॉफाइल अपमार्केट हुआ है।

डिजायन और इंजीनियरिंग में किये गये बदलाव से 419 ली. का दमदार बूटस्पेस निकलता है। 15 इंच के डायमंड कट अलॉय व्हील सिर्फ पेट्रोल वर्जन में मिलेंगे डीजल वर्जन में 14 इंच के व्हील दिये गये हैं। बड़े व्हीलबेस, 276 मिमी ज्यादा लम्बाई और बड़े बूट के बावजूद टियागो के मुकाबले Tata Tigor सिर्फ का वजन सिर्फ 50 किलो ज्यादा है।

tigor carइंटीरियर एंड कम्फर्ट: केबिन के ओवरऑल फील की बात करें तो यह प्रीमियम है, अच्छा दिखता है और टाटा मोटर्स को बधाई दी जानी चाहिये। लेकिन टियागो और टीगोर का केबिन डिजायन बिल्कुल एक जैसा है। फिर भी डैशबोर्ड स्पोर्टी और प्रीमियम है और इसे टेक्सचर्ड फील दिया गया है। स्टीयरिंग व्हील आपको डिजायन, फील और रेस्पॉन्स के लिहाज से बहुत अच्छा लगेगा।

सबसे बड़ा बदलाव 5 इंच का हर्मन टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम है और रिवर्स पार्किंग कैमरा का डिस्प्ले भी इसी में है। साथ ही टॉपएंड वैरियेंट में ऑटोमेटिक क्लाइमेट कंट्रोल दिया गया है। एसी वेंट्स बॉडी कलर्ड हैं। गलोव बॉक्स कूल्ड है यानि आप इसमें सॉफ्ट ड्रिंक रख सकते हैं। एक्सज़ेड वैरियेंट में ड्राइवर सीट की हाइट को एडजस्ट करने की सुविधा है।
फ्रंट सीट्स का टच और कुशनिंग अच्छी है लेकिन साइज़ थोड़ी और बड़ी हो सकती थी। लेकिन लेगस्पेस की कमी नहीं है। चूंकि व्हील बेस टियागो के मुकाबले 50 मिमी बड़ा है इसलिये रिअर सीट्स आपको बहुत कम्फर्टेबल महसूस होंगी और घुटनों को भी आराम मिलेगा। रिअर सीट्स की ऊंचाई भी घटाई गई है जिससे अच्छी कद-काठी के पैसेंजर का भी सिर छत से नहीं टकरायेगा। रिअर सीट्स डोर-टू-डोर है यानि केबिन स्पेस का पूरा इस्तेमाल किया गया है। सेंटर आर्म रेस्ट दी गई है।

Also Read: 

AMT गियरबॉक्स के साथ Tata Tiago लॉन्च

टेस्ट ड्राइव: परफॉर्मेन्स में टैंगी है Tata Tiago

Tata Motors पर कोर्ट ने क्यों लगाया 1 लाख रुपये का जुर्माना

Zest और Bolt से टाटा को नहीं मिली मल्टी ड्राइव

ड्राइव : Tata Tigor में डीजल इंजन 1.05 ली. का है जबकि पेट्रोल इंजन 1.2 ली. का। ट्रान्समिशन 5-स्पीड मैन्यूअल है और इसमें टीयागो की तरह एएमटी का ऑप्शन भी फिलहाल नहीं है। हमने पेट्रोल इंजन को टेस्ट ड्राइव किया जिसकी पीक पावर 85 बीएचपी और टॉर्क 112 एनएम है। पेट्रोल इंजन वैसे तो साइलेंट महसूस होता है लेकिन एक्सीलरेट करने पर साउंड केबिन में भी महसूस होती है। एसी ब्लोअर और इंजन आवाज मिलकर कई बार केबिन को अन्कम्फर्टेबल बना देती हैं। इंजन रेस्पॉन्सिव है लेकिन इसकी ट्यूनिंग अर्बन है यानि पावर ठीक-ठाक ही है। लेकिन और टियागो के मुकाबले Tata Tigor के गियर रेश्यो को छोटा किया गया है।

डीजल इंजन से 70 बीएचपी पावर मिलती है और टॉर्क 140 एनएम का है। पेट्रोल व डीजल दोनों वैरियेंट्स में सिटी और ईको मोड दिये गये हैं।

हैंडलिंग के मामले में टाटा टीगोर को आप बहुत अच्छा कह सकते हैं, स्टीयरिंग व्हील और क्लच ना बहुत ज्यादा सॉफ्ट हैं और ना हार्ड। कॉर्नर स्टेबिलिटी कंट्रोल के फीचर से शार्प स्टीयरिंग भी आसान है।tigor car price

आपके शहर में प्राइस यहाँ देखिये

सेफ्टी: के लिहाज से Tata Tigor थोड़ा पिछड़ जाती है क्योंकि एअरबैग और एबीएस सभी वैरियेंट्स में नहीं हैं। फ्रंट ड्यूअल एअरबैग जहां टॉप एंड वैरियेंट एक्सज़ैड और एक्सज़ैड(ओ) में मिलेंगे वहीं एबीएस-ईबीडी और कॉर्नर स्टेबिलिटी कंट्रोल, फोगलैम्प, स्पीड सेंसिंग डोर लॉक, फॉलो मी हैडलैम्प, रिअर पार्किंग सेंसर जैसे बेसिक सेफ्टी फीचर मिड वैरियेंट एक्सटी में मिलेंगे।

कुल मिलाकर देखें तो टाटा टीगोर कॉम्पेक्ट सेडान सैगमेंट में वैल्यू फोर मनी प्रॉडक्ट है जिसे आप डिजायन, स्टाइल, कम्फर्ट और ईज़ी ड्राइव का अच्छा पैकेज मान सकते हैं जो बाकी मॉडलों के मुकाबले 70-80 हजार रुपये सस्ता भी है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here