Ciaz Hybrid और Ertiga Hybrid को FAME Subsidy, NGT ने Maruti को दिया नोटिस

0
417

ciaz hybridनेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने Maruti Suzuki सुजुकी और केंद्र सरकार को मारुति Ciaz Hybrid और Ertiga Hybrid जैसे माइल्ड हाइब्रिड मॉडलों को FAME स्कीम के तहत दी गई सब्सिडी वापस लेने के लिये दायर की गई याचिका पर नोटिस जारी किया है।

जस्टिस जवाद रहीम की अगुवाई वाली NGT बेंच ने भारी उद्योग, पर्यावरण एंड वन मंत्रालय, आईकैट (इंटरनेशनल सेंटर फोर ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी) और मारुति सजुकी को अपना जवाब 21 फरवरी तक दाखिल करने को कहा है।

एनजीटी एडवोकेट अश्विनी कुमार की ओर से Maruti Suzuki को मिली 95 करोड़ रुपये की सब्सिडी ब्याज सहित लौटाने की मांग करते हुये दाखिल की गई याचिका की सुनवाई कर रही है।

याचिकाकर्ता एडवोकेट अश्विनी कुमार की ओर से पेश एडवोकेट सुमीर सोढ़ी ने याचिका में आरोप लगाया है कि Maruti Suzuki का Ciaz और Ertiga को माइल्ड हाइब्रिड गाडिय़ां कहना और इनके लिये सब्सिडी लेना गलत और गैर-कानूनी है जबकि ये कहीं से भी हाइब्रिड गाडिय़ों जैसे नहीं हैं।

याचिका में आरोप लगाया गया है कि मारुति Ciaz SHVS और Ertiga SHVS हाइब्रिड या माइल्ड हाइब्रिड नहीं हैं और इनमें इंजन के साथ सिर्फ इन्टीग्रेटेड स्टार्टर जेनरेटर मोटर लगी है।

भारत सरकार ने FAME स्कीम के तहत 15 फरवरी 2017 तक कुल 150 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी जिसमें से 95.61 करोड़ रुपये की सब्सिडी अकेेले Maruti Suzuki को इन तथाकथित हाइब्रिड गाडिय़ों के लिये मिली।

याचिका में यह भी आरोप लगाया गया है कि Maruti Suzuki की इन कारों को मिल रही सब्सिडी अचानक बंद किये जाने का कारण वह आरटीआई दाखिल करना है जिसमें इन गाडिय़ों को माइल्ड हाइब्रिड वेहीकल का सर्टिफिकेट जारी किये जाने से सम्बंधित जानकारी मांगी गई थी। जैसे ही भारत सरकार को यह अहसास हुआ कि आरटीआई से इन गाडिय़ों को सब्सिडी दिये जाने के कानून सम्मत नहीं होने की जानकारी का खुलासा हो जायेगा सब्सिडी अचानक बंद कर दी गई।

माइल्ड हाइब्रिड गाडिय़ोंं में लगी इलेक्ट्रिक मोटर से गाड़ी नहीं चल सकती बल्कि ये बैटरी में जमा हुई रिजेनरेटेड एनर्जी से इलेक्ट्रिक मोटर चलाकर इंजन की मदद करती है। इस तरह मायलेज में बढ़ोतरी होती है।

Maruti Suzuki को Ciaz Hybrid और Ertiga Hybrid को FAME स्कीम के तहत हर गाड़ी पर 13 हजार रुपये की सब्सिडी मिली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here