सितम्बर में न्यू मॉडल्स ने बंटोरी ग्रोथ

0
381

septcompanyपैसेंजर वेहीकल सैगमेंट में कम्पनियों की चिंता बढ़ती जा रही है। नये मॉडलों पर कस्टमर की भीड़ पड़ रही है और पहले से मौजूद मॉडलों की चमक तेजी से फीकी हो रही है। क्रेटा को मिले रेस्पॉन्स के दम पर ह्यूंदे ने भारत में अपने 17 साल के इतिहास में रिकॉर्ड 42505 गाडिय़ां बेची हैं। लेकिन मारुति को एस-क्रॉस और सियाज़ हाइब्रिड का कम से कम सितम्बर में तो फायदा नहीं मिला। टू-व्हीलर सैगमेंट में दबाव लगातार बढ़ रहा है और बाइक्स के बाद अब स्कूटर की सेल्स भी सडक़ से उतरने के संकेत मिल रहे हैं।
Maruti Suzuki ने सितम्बर में लोकल मार्केट में 106083 गाडिय़ां बेचीं जो पिछले वर्ष सितम्बर में हुई सेल्स के मुकाबले 6.8 फीसदी ज्यादा है। लेकिन कई महिने बाद मारुति की सेल्स में सिंगल डिजिट ग्रोथ दर्ज की गई है।
क्रेटा ह्यूंदे के लिये इलीट के बाद लगातार दूसरा जैकपॉट मॉडल साबित हो रहा है। कम्पनी ने सितम्बर में रिकॉर्ड 42505 गाडिय़ां बेची जो कि 21 फीसदी की भारी ग्रोथ है। ह्यूंदे इंडिया के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट राकेश श्रीवास्तव के अनुसार फेस्टिव सीजन में सेल्स 15 से 20 फीसदी बढऩे की उम्मीद है। कंज्यूमर सेंटिमेंट सुधर रहा है। 22 जुलाई को आई क्रेटा के लिये 3 महिने की वेटिंग है। सितम्बर में 7 हजार Creta की डिलिवरी दी गई है। कम्पनी ने इसका प्रॉडक्शन 40 फीसदी बढ़ाकर 7500 यूनिट्स कर दिया है।
टीयूवी300 के लॉन्च के बावजूद Mahindra की पैसेंजर मॉडलों की सेल्स 7 फीसदी की गिरावट के साथ 19564 यूनिट्स रही। महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के ऑटोमोटिव बिजनस के प्रेसिडेंट प्रवीण शाह के अनुसार TUV300 को अच्छा रेस्पॉन्स मिला है। ब्याज दरों में कमी आने से फेस्टिव सीजन में सेल्स बढऩे में मदद मिलेगी।
मार्केट एनेलिस्ट्स के अनुसार कॉम्पेक्ट यूवी मॉडल टीयूवी300 की सितम्बर में 4200 यूनिट्स डिस्पैच हुईं।
होन्डा लगातार ग्रोथ पाथ पर बनी हुई है और Jazz को मिले रेस्पॉन्स से कम्पनी मोबिलिओ के नुकसान की भरपाई करने में कामयाब रही है। Honda ने सितम्बर में 18509 गाडिय़ां डॉमेस्टिक मार्केट में बेचीं जो सितम्बर 2014 के मुकाबले 23 फीसदी अधिक है।
एस्पायर और न्यू फीगो लॉन्च करने के बावजूद Ford को सेल्स के मोर्चे पर ज्यादा फायदा होता नजर नहीं आ रहा है। सितम्बर में कम्पनी ने 8427 गाडिय़ां बेचीं लेकिन लो बेस के कारण 22 फीसदी की ग्रोथ दिख रही है।
Toyota टोयोटा की सेल्स 12542 के मुकाबले 11 फीसदी घटकर 11401 यूनिट्स रह गई।
Tata की कार सेल्स भी सितम्बर में 1.7 फीसदी घटकर 11774 यूनिट्स रही।
टू-व्हीलर सैगमेंट में Hero Motocorp ने 606744 गाडिय़ों के डिस्पैच किये जो करीब-करीब सितम्बर 2014 के बराबर ही है। लेकिन यह फेस्टिव सीजन की तैयारियों को देखते हुये इन्वेंटरी बिल्ट अप के कारण है।
कई साल बाद Honda 2W की कुल सेल्स में गिरावट दर्ज की गई है। स्कूटर सैगमेंट में ग्रोथ रेट सुस्त पड़ जाने के कारण सितम्बर में कम्पनी की सेल्स 2 फीसदी गिरी है।
मार्केट रिसर्च फर्म प्राइसवॉटरहाउसकूपर्स के ऑटो एनेलिस्ट अब्दुल मजीद के अनुसार इन्फ्लेशन यानि महंगाई की दर कमजोर पड़ रही है, ब्याज दरों में कटौती हुई है, कंज्यूमर सेंटिमेंट बेहतर हो रहा है, कम्पीटिटिव कीमत पर नये मॉडल लॉन्च हो रहे हैं साथ ही देश की इकोनॉमी के हालात सुधर रहे हैं इन सबका फायदा ऑटो इंडस्ट्री को मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here