Alto800 कार में डिफेक्ट, Maruti लौटाये पूरे पैसे : राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग

0
427

Alto800वाहन में किसी तरह की खराबी को दूर करने की जिम्मेदारी कार निर्माता की है। शीर्ष उपभोक्ता आयोग ने यह फैसला सुनाया है। नेशनल कंज्यूमर डिस्प्यूट रिड्रेसल कमिशन (एनसीडीआरसी) ने देश की प्रमुख कार कम्पनी Maruti को निर्देश दिया है कि एक उपभोक्ता की वाहन में गड़बड़ी की शिकायत को दूर नहीं करने के लिए वह उसकी कीमत लौटाए।

एनसीडीआरसी ने कम्पनी को आंध्र प्रदेश निवासी डॉ. के एस किशोर को 3,30,710 रुपये लौटाने का निर्देश दिया है। आयोग ने कार कम्पनी की राज्य आयोग के आदेश में संशोधन की अपील को खारिज कर दिया।

पीठासीन सदस्य बी सी गुप्ता की अगुवाई वाली पीठ ने अपने आदेश में कहा, यह Maruti की जिम्मेदारी है कि वह खराबी को दूर कर शिकायतकर्ता को वाहन सडक़ पर सडक़ पर चलने की हालत में सौंपे। जो तथ्य और परिस्थितियां सामने रखी गई हैंं उनसे पता चलता है कि Maruti शिकायतकर्ता को वाहन सडक़ पर चलने की स्थिति में सौंपने में विफल रही है।

शिकायतकर्ता ने 10 जनवरी, 2003 को डीलर मित्रा एजेंसीज से Alto800 कार 3,30,710 रुपये में खरीदी थी। दूसरे, तीसरे और चौथे गियर में कार चलाने पर कार में झटके लगते थे और गियरबॉक्स असेंबली से तेज आवाज आती थी। डीलर के पास कई बार चक्कर काटने के बावजूद इस गड़बड़ी को दूर नहीं किया जा सका।

जिला मंच ने शिकायतकर्ता की शिकायत पर डीलर को यह राशि 25,000 रुपये मुआवजे और 2,000 रुपये की मुकदमा लागत के साथ लौटाने का निर्देश दिया। डीलर ने अपनी ओर से किसी तरह की खामी से इनकार करते हुए कहा कि आवाज आने की वजह गलत तरीके से वाहन चलाना हो सकती है।

राज्य आयोग ने डीलर की अपील को स्वीकार करते हुए कार कम्पनी को कार की कीमत लौटाने का निर्देश दिया। Maruti को थोड़ी राहत प्रदान करते हुए 25,000 रुपये का मुआवजा हटा दिया गया। हालांकि 2,000 रुपये की मुकदमा लागत को कायम रखा गया। एनसीडीआरसी ने शिकायतकर्ता की मुआवजा बढ़ाने की संशोधन याचिका को खारिज करते हुए राज्य आयोग के आदेश को उचित ठहराया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here