मारुति Swift 10 साल में 13 लाख

0
404


Maruti Swiftमई 2005 में भारत में लॉन्च हुई मारुति Swift की कुल बिक्री 13 लाख यूनिट्स के पार पहुंच गई है। मारुति के लिये Swift अभी ऑल्टो के बाद बेस्ट सेलर में दूसरे पायदान पर है।

यूरोपीय डिजायन वाली Swift सुजुकी का भारत में लॉन्च हुआ पहला ग्लोबल मॉडल है। Swift के लॉन्च से पहले इस सैगमेंट Hyundai Getz, Fiat Palio आदि मॉडल मौजूद थे लेकिन अब ये इतिहास हो चुके हैं और Swift लगातार इतिहास लिख रही है।
मारुति ने Swift को पहले सिर्फ पेट्रोल में लॉन्च किया था लेकिन 2007 में इसका डीजल वैरियेंट लॉन्च किया गया और इसके साथ ही भारत में डीजल कारों को एक नई दिशा मिली। Swift से पहले भारत में डीजल को आमतौर पर कमर्शियल नेचर का फ्यूल माना जाता था लेकिन मल्टीजेट डीजल इंजन के हल्के वजन, बढिय़ा मायलेज और कम एनवीएच (नॉइस, वाइब्रेशन, हार्शनैस) के चलते खूब पसंद किया गया। एक दौर ऐसा भी था जब डीजल वैरियेंटों वाले मॉडलों की कुल बिक्री में 53 फीसदी के करीब योगदान डीजल वैरियेंटो का हो गया था हालांकि पिछले दो साल में डीजल और पेट्रोल की कीमत में अंतर घटने के कारण इसमें कमी आई है।
सुजुकी ने Swift के लिये भारत को लीड मार्केट माना था लेकिन यह ग्लोबल प्रॉडक्ट साबित हुआ। अब यह 140 देशों में मौजूद है और पिछले साल सितम्बर में Swift का टोटल ग्लोबल वॉल्यूम 40 लाख यूनिट्स के स्तर पर पहुंच गया था।
वर्ष 2008 में मारुति से स्विफ़्ट के प्लेटफॉर्म के साथ प्रयोग करते हुये सेडान मॉडल डिज़ायर को लॉन्च किया था। पिछले वित्तीय वर्ष में Swift और डिज़ायर की कुल बिक्री करीब 4 लाख यूनिट्स रही और इस लिहाज 25 लाख यूनिट्स के मार्केट में 16 फीसदी योगदान स्विफ़्ट रेंज का है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here