Maruti Alto 40 Lakh पारः पापा कि करां पट्रोल खतम ही नी हुंदा…

0
234
Maruti Alto 40 Lakh : First Car to Achieve Iconic Milestone

ये एड देखा था ना आपने??
…ओये छोटे बस कर यार
पापा कि करां पट्रोल खतम ही नी हुंदा…

बस ऐसे ही अचानक याद आ गया। क्योंकि मौका भी है और दस्तूर भी।
मौका यह कि मारुति ऑल्टो को आये बीस साल हो गये और इसका पेट्रोल खतम ही नहीं हो रहा…। 20 साल में Alto 40 Lakh के सेल्स लेवल को पार कर गई।

और…गुड मेमोरीज़ को सेलीब्रेट करने का दस्तूर तो है ही। क्योंकि इन 40 लाख में से 76 परसेंट यानी करीब 30 लाख ऑल्टो ऐसी हैं जिन्होंने वाकई घरों में गैराज बनाने के मकसद को पूरा किया है। सीधी बात करें तो Alto के 76 परसेंट कस्टमर वो रहे हैं जिनकी यह फर्स्ट कार बनी।

दूसरी तरह से देखें तो Alto ने मारुति800 के काम को आगे बढ़ाया है। 2014 में देशभर में बीएस4 एमिशन नॉर्म्स लागू होने के कारण हिस्ट्री बनने से पहले मारुति800 ने 27 लाख से ज्यादा घरों में अपने लिये जगह बनाई। सिर्फ जगह ही नहीं बनाई बल्कि देश में अफोर्डेबल, ईज़ी ऑन पाॅकेट और लो मेंटीनेन्स कारों का कल्चर तैयार किया।

Maruti Suzuki पिछले सालों में फोर्थ जेनरेशन मारुति ओनर्स के लिये माॅडल लाने पर फोकस कर रही है। Baleno और Ignis आदि की पिचिंग इन्हीं फोर्थ जेनरेशन मारुति कस्टमर के लिये है।

भारत में Alto 40 Lakh की सेल्स को पार करने वाली पहली कार है। इसके जरिये मारुति सुज़ुकी ने न्यू मिलेनियम ने कदम रखे थे और मायलेज व अफोेर्डेबिलिटी की पिच पर बुने गये नैरेटिव की कामयाबी का ही नतीजा है कि ऑल्टो लगातार 16 साल भारत की टॉप-सेलिंग कार रही है।

Maruti, company selling every second car, owned entry level car Alto scaled the unparalleled level of 40 lakh units
Maruti Alto First Car To Cross 40 Lakh Units Sales Milestone

साल 2000 में लाॅन्च बाद पहले 10 लाख यूनिट्स के लेवल तक पहुंचने में मारुति Alto को 8 साल लगे लेकिन बाद में यह अमूमन हर 4 साल में 10 लाख कस्टमर तक पहुंचने में कामयाब रही।
मारुति ऑल्टो देश की पहली एंट्री लेवल कार है जिसने बीएस6 और क्रैश व पेडेस्ट्रियन सेफ्टी मानकों को पूरा किया है।

800 सीसी के 3सिलिंडर पेट्रोल इंजन से लैस ऑल्टो 6 पेट्रोल व 2 सीएनजी वैरियेंट्स के ऑप्शन में 2.94 लाख से 4.36 लाख रुपये की एक्स-शोरूम प्राइस रेंज में आती है।

बीच के सालों में मारुति ने ऑल्टो ब्रांड का विस्तार करते हुये इसका 1 हजार सीसी इंजन से लैस Alto K10 अवतार भी लाॅन्च किया था। कामयाब माॅडल होने के बावजूद कम्पनी ने इसे बीएस6 के लिये अपग्रेड नहीं किया।

Feature Packed Maruti Alto

बदलते कस्टमर और बदलते टेस्ट को ध्यान में रखते हुये मारुति ने Alto को लगातार अपग्रेड किया है और अब इसमें 7.0 इंच टचस्क्रीन के साथ स्मार्टप्ले स्टूडियो इंफोटेनमेंट सिस्टम, पावर स्टीयरिंग, फ्रंट पावर विंडोज़, रिमोट लॉकिंग, हीटर के साथ मैन्यूअल एसी, ड्यूअल टोन इंटीरियर, ड्यूअल फ्रंट एयरबैग्स, रिवर्स पार्किंग सेंसर, सीटबेल्ट रिमाइंडर्स, स्पीड अलर्ट सिस्टम और एबीएस-ईबीडी आदि सभी स्टेंडर्ड फीचर दिये गये हैं।

मारुति ने ऑल्टो का फुल माॅडल चेंज 2012 में किया था और लाॅन्च के पहले 124 दिन में ही इसकी 1 लाख यूनिट्स बिक गई थीं।

Maruti Suzuki ने नवम्बर 2019 में 2 करोड़ यूनिट्स के सेल्स लेवल को पार किया था और यह मुकाम हासिल करने मेें उसे 37 साल लगे। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने दिसम्बर 1983 में गुड़गांव प्लांट से रोलआउट हुई पहली मारुति800 की चाबियां हरपाल सिंह जी को सौंपी थीं।

कम्पनी ने पहली एक करोड़ कार बेचने में करीब 30 साल लगे लेकिन अगली 1 करोड़ मारुति या सुज़ुकी ब्रांड की गाड़ियां सिर्फ 8 साल में कस्टमर तक पहुंच गईं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here