टाटा मोटर्स ने JD Power CSI Study में दिग्गजों को पछाड़ा

0
324

JD Power Customer Satisfaction

अप्रेल में आई टाटा टियागो बड़े कम्पीटिशन के बावजूद हर महिने पांच हजार बिक रही हैं। तीन साल पहले आई टाटा ज़ेस्ट भी 2 हजार के लेवल पर बनी हुई है। एक दौर ऐसा था जब टाटा मोटर्स की पहचान टेक्सी से जुड़ गई थी लेकिन अब जेडी पावर कस्टमर सेटिस्फैक्शन स्टडी ( JD Power CSI Study ) में दूसरे पायदान के लिये यह Hyundai India को टाई पर रोकने में कामयाब रही है। पहले पायदान के लिये मारुति सुजुकी और होन्डा कार्स इंडिया के बीच मुकाबला टाई रहा है।
JD Power CSI Study में मास सैगमेंट में इंडस्ट्री औसत स्कोर 880 रहा। इंडस्ट्री के औसत से नीचे स्कोर करने वाली कम्पनियों में महिन्द्रा एंड महिन्द्रा, टोयोटा, निसान, डेटसन, फोर्ड, फोक्सवैगन, शेवरले और रेनो आदि प्रमुख हैं।
एंट्री लेवल मॉडल Kwid के जरिये बहुत तेजी से आगे बढ़ रही Renault India का  JD Power CSI  स्कोर 779 रहा और इस तरह यह लिस्ट में आखिरी रैंक पर रही।
पहले पायदान के लिये मारुति सुजुकी और होन्डा कार्स इंडिया में टाई हुआ और दोनों कम्पनियों का JD Power CSI स्कोर 901 रहा। पहली दो रैंक पर टाई रहने के बाद तीसरी रैंक पर महिन्द्रा एंड महिन्द्रा ने कब्जा जमाया और इसने 856 का स्कोर हासिल किया।
यह लगातार 17वां साल है जब देश की सबसे बड़ी कम्पनी मारुति सुजुकी ने JD Power CSI Study  में पहला स्थान हासिल किया है।
 JD Power CSI  की यह बीसवीं स्टडी मई 2014 से अगस्त 2015 के बीच नई गाड़़ी खरीदने वाले 7843 कस्टमर के फीडबैक पर आधारित है।
रिपोर्ट के अनुसार  JD Power CSI में इंडस्ट्री के औसत स्कोर में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई। पिछली स्टडी में यह 866 पॉइंट रहा था जो इस बार 14 पॉइंट के सुधार के साथ 880 पर पहुंच गया। इस बार रीजनल स्कोर भी जारी किया गया और पश्चिमी भारत का औसत स्कोर 900 पॉइंट रहा जबकि उत्तरी भारत का 857 पॉइंट।
2016 की  JD Power CSI स्टडी रिपोर्ट में कहा गया है कि डीलर अब हर जरूरी मौेके पर कस्टमर को मैसेज करने लगे हैं और इस ट्रेंड में लगातार सुधार हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here