आग लगने का खतरा Hyundai Tucson Recall

0
263

कोरियाई दिग्गज Hyundai ने अब 1.80 लाख Tucson को गैरेज से बाहर पार्क करने की अपील की है। 1.80 lakh Hyundai Tucson recall over fire risk…खबर है कि Hyundai Tucson में आग लगने का खतरा है और इसे देखते हुये कम्पनी ने रीकाॅल की जा रही इन गाड़ियों को गैरेज से बाहर पार्क करने की हिदायत दी हैं। कोरियाई कम्पनी ने अभी इंडिया में ह्यूंदे टक्सन के रिकॉल के बारे में कुछ नहीं कहा है। पिछले सप्ताह ही आगे लगने का खतरा देखते हुये Hyundai और Kia ने कुल करीब 6 लाख गाड़ियों को Recall करने को कहा था हालाँकि उनमें टक्सन शामिल नहीं थी।

कम्पनी के अनुसार 2019 से 2021 मेक वाली Hyundai Tucson के एबीएस कि सर्किट बोर्ड में कुछ खामी है जिसके कारण इलेक्ट्रिकल शॉर्टसर्किट हो सकता है जिससे आग लगने का खतरा है। ह्यूंदे ने कहा है कि उसे इंजन में आग लगने के दर्जनभर मामलों की जानकारी मिली है लेकिन उनमें किसी को चोट नहीं लगी है।

कोरियाई कार कम्पनियों ह्यूंदे और किआ ने पिछले सप्ताह कुल मिलाकर 6 लाख गाड़ियों में ब्रेक फ्लुइड लीकेज के कारण आग लग जाने के खतरे के चलते रिपेयर नहीं हो जाने तक गैरेज से बाहर पार्क करने की सलाह दी थी।

कम्पनी ने कहा है कि गाड़ी का इंजन बंद होने पर भी आग लगने की आशंका है। साथ ही यदि एबीएस की वाॅर्निंग लाइट जलने लगती है तो गाड़ी को बंदकर बैटरी की पाॅजिटिव केबल को निकाल दें।

हालांकि पिछले सप्ताह Recall की गई गाड़ियों में Hyundai Tucson शामिल नहीं थी। तब कोरियाई कम्पनियों ने ब्रेक फ्लुइड लीक होने के कारण आगे लगने की आशंका के कारण 2.03 लाख ह्यूंदे सांता फे, किआ साॅरेंटो और किआ ऑप्टिमा सेडान को Recall किया था। उस मामले में भी प्रभावित गाड़ियों को गैरेज से बाहर पार्क करने की सलाह दी गई थी।

ह्यूंदे और किआ अपनी गाड़ियों में आग लगने के खतरे के लगातार आ रहे मामलों से जूझ रही हैं। फरवरी में ही ह्यूंदे ने 4.30 लाख गाड़ियों को इसी कारण रीकाॅल किया था। तब कम्पनी ने कहा था कि एबीएस के कम्प्यूटर में पानी घुसने से इलेक्ट्रिक शॉर्टसर्किट और आग लगने की आशंका है।

अप्रेल 2019 में अमेरिका की रोड सेफ्टी रेगुलेटर एनएचटीएसए ने ह्यूंदे और किआ की गाड़ियों में आग लगने के 3100 और घटनाओं में चोट लगने के 103 मामले सामने आने के बाद दो तरह की जांच खोली थी। इसके तहत सेंटर फोर ऑटोमोटिव सेफ्टी को ह्यूंदे और किआ की 30 लाख गाड़ियों में आग लगने की आशंका और घटनाओं की जांच की जिम्मेदारी दी गई थी।

2017 में कोरियाई कम्पनियों की गाड़ियों के इंजन फेल हो जाने का बड़ा मामला सामने आने के बाद उनकी जांच शुरू की गई थी अब NHTSA ने कहा है कि आग लगने के नये मामलों को भी उसी में शामिल किया जायेगा।

एनएचटीएसए के अनुसार 2015 से अब तक इंजन फेल होने और आग लगने की आशंका के दायरे में ह्यूंदे और किआ की 60 लाख गाड़ियां आ चुकी हैं।