Honda Activa वाह और Hero Motocorp की निकली आह

0
1976

honda-activa-125-bookings-open-indiaस्कूटर सेगमेंट में कमज़ोरी के बावज़ूद जहाँ Honda Activa की रफ़्तार बरकरार रही वहीं बाइक्स की सेल्स कमज़ोर रहने के चलते Hero Motocorp को नुकसान उठाना पड़ा। साल के शुरूआती छह महिनों के दौरान स्कूटर सैगमेंट की ग्रोथ रेट को देखा जाये तो यह कम्पनियों के लिये चिंता का कारण बन रही है। जनवरी में जहां 25.30 फीसदी ग्रोथ हुई थी वहीं फरवरी, मार्च, अप्रेल और मई में यह लगातार और बहुत तेजी से गिरी। मई में तो स्कूटर सैगमेंट में सेल्स में सिर्फ 2.61 फीसदी की बढ़ोतरी हो पाई। हालांकि जून में कुछ रिकवरी हुई और ग्रोथ रेट 14.21 फीसदी रही। फिर भी जनवरी से जून की छमाही में देखें तो बिक्री 19.97 के मुकाबले 22.57 लाख यूनिट्स की रही और ग्रोथ 12.65 फीसदी पर सिमट गई।
स्कूटर सैगमेंट शुरू हुये इस कमजोर सेल्स ग्रोथ के दौर का असर स्कूटर कम्पनियों पर भी साफ नजर आ रहा है। एक ओर जहां होन्डा और टीवीएस को फायदा हुआ है वहीं सजुकी, यामहा और हीरो मोटोकोर्प को नुकसान उठाना पड़ा है।
scooter H1होन्डा इज़ स्कूटर हीरो: सियाम के आंकड़ों के अनुसार अप्रेल-जून यानि वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही के दौरान देश में कुल 1079532 स्कूटर बिके और इनमें होन्डा का हिस्सा 632769 यूनिट्स का रहा। इस लिहाज से कम्पनी का मार्केट शेयर 58.62 फीसदी तक पहुंच गया। जबकि पिछले वर्ष की पहली तिमाही में होन्डा स्कूटर सैगमेंट के 52.32 फीसदी हिस्से पर काबिज थी। इस दौरान कम्पनी ने 20.16 फीसदी यानि 1.06 लाख ज्यादा स्कूटर बेचे।
scooter sales“हीरो” सिर्फ बाइक्स में: वहीं Hero Motocorp को पहली तिमाही में स्कूटर सेल्स में 19.84 फीसदी का भारी नुकसान उठाना पड़ा। अप्रेल-जून के दौरान हीरो ने कुल 148908 स्कूटर बेचे जबकि पिछले वर्ष पहली तिमाही में कम्पनी की स्कूटर सेल्स 185778 यूनिट्स रही थी। Hero Motocorp को जो नुकसान हुआ है उसका सबसे बड़ा कारण सीमित पोर्टफोलियो है। कम्पनी के पास सिर्फ 110 सीसी का Hero Maestro और 102 सीसी का Hero Pleasure ही है। जबकि होन्डा के पोर्टफोलियो में 110 सीसी के Honda Activa-i, Honda Activa, Honda Dio और Honda Aviator जबकि 125 सीसी में Honda Activa DLX आदि पांच मॉडल हैं। माना जा रहा है कि हीरो मोटोकोर्प को जो घाटा हुआ है उसका बड़ा कारण Hero Maestro नहीं बल्कि Hero Pleasure है।
नतीजा यह हुआ कि पहली तिमाही में स्कूटर सेल्स के मामले में Hero Motocorp को टीवीएस ने तीसरे स्थान पर धकेलकर दूसरे पायदान पर कब्जा जमा लिया।
टीवीएस की जुपिटर राइड: कुल वॉल्यूम देखें तो पहली तिमाही में टीवीएस की स्कूटर सेल्स 147751 के मुकाबले 6.24 फीसदी बढक़र 156975 यूनिट्स हो गई। लेकिन इस ग्रोथ का सबसे बड़ा कारण TVS Jupiter है। इसके अलावा 110 सीसी के बाकी दो मॉडल TVS Wego और TVS Zest का भी योगदान रहा। लेकिन कम्पनी को एंट्री लेवल मॉडलों TVS Streak और TVS Pep+ की सेल्स में अच्छा खासा नुकसान उठाना पड़ा है।
यामहा ने हाल ही रे, ज़ी और एल्फा को फेसलिफ्ट करने के साथ ही Yamaha Fascino के नाम से रिट्रो डिजायन वाला मॉडल लॉन्च किया है। इसके बावजूद पहली तिमाही में कम्पनी को घाटा उठाना पड़ा है। कम्पनी की सेल्स 62698 के मुकाबले 6.78 फीसदी घटकर 58446 यूनिट्स रह गई।
सुजुकी का पूरा वॉल्यूम 125 सीसी के एक्सैस पर टिका है लेकिन Honda Activa DLX के आने से इस सैगमेंट में सुजुकी की मोनोपॉली चैलेंज हो रही है। Suzuki Swish और Suzuki Lets बहुत कमजोर मॉडल साबित हुये हैं। नतीजा कम्पनी की स्कूटर सेल्स 69748 के मुकाबले 16.16 फीसदी की अच्छी खासी गिरावट के साथ 58487 यूनिट्स रह गई।
महिन्द्रा के वॉल्यूम में बढ़त नजर आ रही है लेकिन यह Mahindra Gusto के कारण है। कम्पनी की सेल्स पहली तिमाही में 135 फीसदी बढ़त के साथ 7274 के मुकाबले 17156 यूनिट्स तक पहुंच गई।
वेस्पा पियाजिओ के लिये भारी पड़ रहा है और इसका औसत वॉल्यूम 2200-2300 यूनिट्स रह गया है। हालांकि इसमें 3 फीसदी की बढ़त है लेकिन इस वॉल्यूम पर कम्पनी के लिये डीलरशिप्स चलाये रखना मुश्किल साबित हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here