10 हजार Electric Car क्यों खरीद रही है मोदी सरकार

0
487

electric veritoकुछ महिने पहले खबर आई कि भारत सरकार 2030 तक फुल इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के प्लान पर काम कर रही है। यानि सरकार की कोशिश 2030 तक भारत की सडक़ पर चल रही हर कार को इलेक्ट्रिक करने की है। इस दिशा में पहला कदम बढ़ाते हुये भारत सरकार की एजेंसी एनर्जी एफीशियेंसी सर्विसेस लिमिटेड ने 10 हजार Electric Car खरीदने का एक टेंडर निकाला है। इस तरह खरीदी जाने वाली Electric Car अलग-अलग मंत्रालयों में इस्तेमाल की जायेंगी। यानि भारत सरकार ने अपने प्लान की दिशा में पहला बड़ा कदम बढ़ा दिया है।

एनर्जी एफीशियेंसी सर्विसेस लि. वही एजेंसी है जो देश में इन दिनों रियायती प्राइस पर एलईडी बल्ब बांटने की उजाला स्कीम को लागू कर रही है। इस स्कीम को मिले रेस्पॉन्स से उत्साहित सरकार अब ऐसा ही वॉल्यूम गेम अब Electric Car के सैगमेंट में खेलना चाहती है। उजाला स्कीम के तहत ईईएसएल अब तक करीब 27 करोड़ एलईडी बल्ब बांट चुकी है।

टेंडर के अनुसार सरकार ने कम्पनियों से चार दरवाजे वाले सेडान मॉडलों के कोटेशन मांगे है और इन Electric Car की सिंगल चार्ज में ड्राइव रेंज 125 से 150 किलोमीटर तय की गई है।

इस प्लान के तहत पहले चरण में दिल्ली-एनसीआर में चलने के लिये 1 हजार इलेक्ट्रिक कार खरीदी जायेंगी जिनका इस्तेमाल सरकार के अलग-अलग डिपार्टमेंट्स में किया जाना है।

अभी भारत में सिर्फ महिन्द्रा इलेक्ट्रिक ही Electric Car बनाती है। इसके पोर्टफोलियो में ई2ओ, ई2ओ+, ई-सुप्रो और ई-वेरिटो ही हैं। इनमें से सिर्फ ई-वेरिटो ही सेडान मॉडल है यानि यह सरकार की फोर डोर सेडान की शर्त को पूरा करती है।

ईईएसएल ने दिल्ली-एनसीआर में 3 हजार एसी चार्जिंग स्टेशन और 1 हजार डीसी चार्जिंग स्टेशन बनाने का टेंडर भी जारी किया है।

अभी कुछ दिनों पहले टाटा मोटर्स ने कहा था कि वह कॉम्पेक्ट हैचबैक मॉडल टियागो का इलेक्ट्रिक अवतार तैयार कर रही है। यह इलेक्ट्रिक टियागो जल्दी ही लॉन्च की जायेगी लेकिन इसके भारत से पहले ब्रिटेन में लॉन्च होने की संभावना है।

टेंडर के अनुसार कम्पनी को इलेक्ट्रिक कारों के इलेक्ट्रिक पावरट्रेन पर वॉरंटी भी देनी होगी।

1 जुलाई से लागू हुये जीएसटी सिस्टम में इलेक्ट्रिक कार को टू-व्हीलर व थ्री-व्हीलर के साथ 12 परसेंट के जीएसटी स्लैब में रखा गया है। जबकि स्मॉल कारों पर 28+1 परसेंट जीएसटी लगाया गया है। मिडसाइज़ और लक्जरी कार के साथ एसयूवी मॉडलों व हाइब्रिड कारों को 28+15 यानि 43 परसेंट टेक्स के दायरे में रखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here