Ignition Switch रिकॉल: General Motors दोषी साबित?

0
608

0

अमेरिका के न्याय विभाग के जांचकर्ताओं ने Ignition Switch मामले में डिफेक्ट की बात को छुपाने के आरोप में General Motors को दोषी पाया है। Ignition Switch की गड़बड़ी के कारण हल्के झटके से ही गाड़ी बंद हो जाने के कारण पावर स्टीयरिंग, पावर ब्रेक और एअरबैग अचानक बंद हो जाने के चलते हुये हादसों के कारण 104 मौतों की पुष्टि हो चुकी है और अमेरिका में न्याय विभाग और फैडरल पैनल के साथ ही अन्य कई स्तरों पर जांच चल रही है। खबर है कि न्याय विभाग ने General Motors को मामले को दबाने के चलते आपराधिक रूप से दोषी पाया है और अब जनरल मोटर्स व न्याय विभाग के बीच जुर्माने को लेकर बातचीत चल रही है।
न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार अगले एक-दो महिने में जुर्माने को लेकर समझौता हो जाने की उम्मीद है। माना यह भी जा रहा है कि General Motors पर Ignition Switch मामले में टोयोटा पर लगाये गये 1.2 अरब डॉलर से भी ज्यादा का जुर्माना लगाया जा सकता है। हालांकि टोयोटा ने जांच एजेंसियों के साथ कानूनी लड़ाई लड़ी थी जबकि General Motors इस मामले को हर हालत में जल्दी निपटाना चाहती है।
General Motors के कुछ कर्मचारियों जिनमें से कई को बर्खास्त किया जा चुका है पर मुकदमा चलाया जा सकता है। साथ ही जीएम और जांच एजेंसी के बीच इसको लेकर भी बातचीत चल रही है कि कम्पनी सार्वजनिक रूप से क्या गलती स्वीकार करेगी।
करीब एक वर्ष से चल रही इस जांच में एजेंसियों ने इस मुद्दे पर भी गौर किया कि 2009 में दिवालिया होने पर Ignition Switch की इस गड़बड़ी का खुलासा नहीं कर General Motors ने कहीं धोखा तो नहीं दिया है।
General Motors ने पिछले साल रीकॉल और दूसरे सेफ्टी से जुड़े मामलों पर 3 अरब डॉलर खर्च किये थे जिनमें से 60 करोड़ डॉलर Ignition Switch की गड़बड़ी के कारण हुये हादसों में घायल और हताहतों के परिवारों को मुआवजे के रूप में दिये गये। इसके अलावा गड़बड़ी को सालों तक छुपाये रखने के चलते एनएचटीएसए ने भी General Motors पर 3.5 करोड़ डॉलर का जुर्माना लगाया है।
भले ही न्याय विभाग के साथ समझौता हो जाये लेकिन General Motors के खिलाफ विभिन्न अदालतों में पीडि़त लोगों की ओर से दर्जनों क्लास एक्शन सूट पर सुनवाई चल रही है जिनमेंं कम्पनी पर धोखाधड़ी के आरोप लगाये गये हैं। Image Credit: Detroit Free Press

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here