वीडियो कैमरा लगा देगा emergency brake

0
776

boschगूगल की driverless car 5 लाख किलोमीटर से भी ज्यादा सुरक्षित तरीके से चल चुकी है। अमेरिका के दो राज्यों में इसे सडक़ पर चलने का लायसेंस भी मिल चुका है लेकिन यह कब आयेगी कोई नहीं जानता। कारों को स्मार्ट करने की दिशा में सबसे ज्यादा काम emergency brake सिस्टम के लिये हो रहा है। अभी यह काम रडार सेंसर और कैमरा मिलजुल कर करते हैं। लेकिन जर्मनी की ऑटो टेक्नोलॉजी कम्पनी Bosch ने ऐसा वीडियो कैमरा डवलप किया है जिसकी मदद से emergency Brake System को रडार सेंसर की जरूरत ही नहीं होती और वह सिर्फ इस स्टीरियो वीडियो कैमरा के डेटा से ही हरकत में आ जाता है। 
Bosch  के अधिकारी डॉ. डर्क होहीसल कहते हैं कि इस स्टीरियो वीडियो कैमरा से emergency brake सिस्टम हर तरह की गाडिय़ों के लिये बहुत अफोर्डेबल यानि किफायती हो सकता है। Land Rover के मॉडल New Discovery Sport में स्टीरियो वीडियो कैमरा और बॉश emergency brake सिस्टम दिया गया है। Bosch Press Statement
जैसे ही कैमरा यह भांपता है कि गाड़ी की लेन में आगे कोई गाड़ी रास्ता रोक रही है तो यह तुरंत हरकत में आ जाता है। यदि सामने गाड़ी देखकर भी ड्राइवर ब्रेक नहीं लगाता है तो यह सिस्टम पूरी ताकत से ब्रेक लगाता है। इस फीचर के चलते डिस्कवरी स्पोर्ट यूरो Ncap टेस्ट में 5 स्टार स्कोर हासिल करने में कामयाब रही है। Bosch का दावा है कि प्रिडिक्टिव पेडेस्ट्रियन प्रॉटेक्शन सिस्टम यानि सडक़ पर पैदल चल रहे लोगों को पहचानने का सिस्टम भी इस स्टीरियो वीडियो कैमरा से तैयार किया जा सकता है।
लैंड रोवर डिस्कवरी स्पोर्ट में emergency brake सिस्टम के अलावा भी कई ड्राइवर असिस्टेंस फंक्शन हैं जिनमें से कई Bosch के इस स्टीरियो वीडियो कैमरा पर आधारित हैं। ऐसा ही एक फंक्शन सडक़ संकेतों को पढऩे का है जो ड्राइवर को स्पीड लिमिट के बारे में सतर्क करता रहता है। इसके अलावा डिस्कवरी स्पोर्ट में लेन डिपार्चर सिस्टम भी है जो यह बताता है कि गाड़ी ने कहीं अपनी लेन छोडक़र दूसरी लेन में तो नहीं चल रही है। जैसे ही गाड़ी अपनी लेन से भटकने लगती है तुरंत गाड़ी का स्टीयरिंग व्हील कांपने लगता है।
बॉश के इस स्टीरियो वीडियो कैमरा में लाइट सेंसिटिव लैंस और वीडियो सेंसर हैं। यह सामने के पचास मीटर पर नजर रखता है और 50 मीटर की दूरी से 3डी नाप ले सकता है। इससे यह पता चल जाता है कि आगे वाली गाड़ी कितनी दूर है। कम्पनी का दावा है यह कैमरा सिर्फ 12 सेमी का है और कंट्रोल व इमेज प्रॉसेसिंग सिस्टम भी इसके अंदर ही लगा है। इस तरह कार बनाने वाली कम्पनियां बहुत आसानी से रियर व्यू मिरर में फिट कर सकती हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here