Dream bike से नहीं मिली Honda 2W “पंछी” को सपनों की उड़ान

0
501

Dream bike को मिले बहुत कमज़ोर रिस्पांस को देखते हुए Honda 2W ने देश का सबसे बड़ा टू-व्हीलर ब्रांड बनने का लक्ष्य एक साल आगे खिसका दिया है। पहले कम्पनी यह लक्ष्य 2015-16 में हासिल करना चाहती थी लेकिन अब इसके लिये 2016-17 का लक्ष्य रखा गया है।

neoHonda 2W ने वित्तीय वर्ष 2014-15 में 44.52 लाख गाडिय़ां बेचीं दूसरी ओर Hero Motocorp ने 64.3 लाख। कम्पनी का कहना है कि प्रॉडक्शन कैपेसिटी में गुंजाइश नहीं है ऐसे में वित्तीय वर्ष 2015-16 में बिक्री सिर्फ 5 फीसदी बढक़र 47 लाख तक पहुंच पायेगी।
देश की दूसरी सबसे बड़ी टू-व्हीलर कम्पनी की स्ट्रेटेजी में झिझक और उम्मीद से कमजोर मार्केट रेस्पॉन्स को  नीचे दिये गये दो बयानों से समझते हैं।

पहला बयान 11 मार्च 2013 को Honda मोटर कम्पनी के तब के सीओओ शिंजी आओयामा के हवाले से आया था।

Honda 2W can be No 1 two-wheeler maker by 2015-16 if slowdown continues: Honda Motor

दूसरा बयान 6 मई को आया है जिसमें Honda 2W के मौजूदा प्रेसिडेंट और सीईओ कीता मुरामात्सु के कहा है कि “In the next two years, when we have the Gujarat plant and additional capacity in the Karnataka plant ready, we may be able to be No.1,” 

पहले बयान में कम्पनी ने 2015-16 के आखिर तक देश की सबसे बड़ी टू-व्हीलर कम्पनी बनने की बात कही थी। लेकिन अब दो साल गुजर जाने के बाद अब कम्पनी ने कहा है कि यह लक्ष्य 2016-17 में हासिल हो सकता है। यानि एक साल देर से।
वित्तीय वर्ष 2013-14 में कम्पनी की बिक्री 37 लाख यूनिट्स रही थी और 2014-15 में 44.52 लाख यूनिट्स। चालू वित्तीय वर्ष का अंत 47 लाख यूनिट्स के साथ होने की उम्मीद है और इसका कारण उत्पादन क्षमता की कमी है। अभी Honda 2W के तीन प्लांट हैं जो पूरी क्षमता से चल रहे हैं और इनकी कुल कैपेसिटी 46 लाख यूनिट्स है।

Related Story: Honda Hornet 160 R बाइक पर मार्क्स दिखाओ 50 गुना डिस्काउंट पाओ ऑफर

Hero Glamour के आगे फीकी पड़ रही है Honda Shine

Hero Glamour के आगे फीकी पड़ रही है Honda Shine

ड्रीम या नाइटमेअर: अब सवाल यह है कि Honda 2W को देश का सबसे बड़ा 2-व्हीलर ब्रांड बनने का लक्ष्य एक साल देर से क्यों हासिल होगा। तो इसका जबाव कम्पनी के बाइक पोर्टफोलियो में नजर आता है। Honda 2W ने 2012 के ऑटो एक्स्पो में 110 सीसी की Dream Yuga बाइक के जरिये मास सैगमेंट में कदम रखे थे। इसके बाद 2013 में इसी रेंज में “अपनी फिलम का सुपरस्टार” Dream Neo आई थी और 2014 में CD110Dream । यानि रूरल फोकस वाली ड्रीम रेंज में कम्पनी के पास अब तीन बाइक हैं। इसके अलावा Trigger और हाल ही CB Unicorn 160 को कम्पनी ने लॉन्च किया है। Shine और Twister पहले से चल रही हैं। लेकिन महिने दर महिने बाइक्स के सेल्स वॉल्यूम को देखें तो साफ हो जाता है कि जिस उम्मीद से कम्पनी ने बाइक पोर्टफोलियो का विस्तार किया था और इनके दम पर रूरल मार्केट तक होन्डा ब्रांड को पहुंचाना चाहती थी वो पूरी नहीं हुई।

Honda 2Wजनवरी 2013 में Honda 2W ने कुल 118760 बाइक्स बेची थीं तब Dream Neo और CD Dream मॉडल नहीं थे। इन दोनों मॉडलों के लॅान्च के बाद दिसम्बर 2014 में कम्पनी का बाइक वॉल्यूम 121489 यूनिट्स रहा। Honda 2W ने फरवरी15 में CB Unicorn160 को लॉन्च किया था और शुरूआती महिने में अच्छे खासे डिस्पैच के बावजूद कम्पनी अप्रेल में कुल 131291 बाइक्स ही बेच पाई। यानि चार नये मॉडल लॉन्च करने के बावजूद कम्पनी का बाइक वॉल्यूम करीब-करीब 28 महिने पहले जनवरी 2013 के स्तर पर ही है। कम्पनी के लिये सबसे चिंता की बात यह है कि मार्च 2014 में 190091 बाइक्स बिकी थीं लेकिन मार्च 2015 में यह घटकर 145508 यूनिट्स यानि 45 हजार यूनिट्स कम रही।
वित्तीय वर्ष 2014-15 में कम्पनी की कुल 17.94 लाख यूनिट्स की बाइक बिक्री में 8.27 लाख अकेली Shine थी। जबकि ड्रीम सीरिज की तीनों बाइक्स का कुल वॉल्यूम 614342 यूनिट्स था। कम्पनी को भेजे गये ई-मेल का कोई जबाव नहीं मिला।
एक्टिवा एकला चालो : Honda 2W बाइक्स सैगमेंट में भले ही जूझ रही हो लेकिन Activa देश का सबसे बड़ा स्कूटर ब्रांड है और पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान यह Splendor के बाद टॉप-10 की लिस्ट में दूसरे स्थान पर था। Honda 2W ने पिछले वित्तीय वर्ष में निर्यात सहित कुल 44.52 लाख गाडिय़ां बेचीं उनमें से 25 लाख के करीब स्कूटर थे। इनमें भी 21.78 लाख सिर्फ Activa थे। कम्पनी की Activa रेंज में Activa-I, Activa Std. और Activa125 हैं। बाकी दोनों स्कूटर ब्रांड Deo और Aviator थोड़ा-बहुत ही योगदान दे पा रहे हैं। पिछले वित्तीय वर्ष में डिओ की कुल 1.89 लाख यानि महिने में औसत 15 हजार यूनिट्स की बिक्री हुई। वहीं Aviator 1.34 लाख के साथ औसत 11 हजार।
Dream bikes के जरिये Honda 2W की कोशिश अपनी कुल बिक्री में स्कूटर और बाइक्स का योगदान बराबर यानि 50-50 फीसदी करने की थी। लेकिन Activa लगातार मजबूत हो रहा है वहीं Dream bikes बुरा सपना साबित हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here