Car Hacking: हैकरों की सेंधमारी चलती गाड़ी हो गई बंद

0
874

0Car Hacking टार्गेट पर फिएट-क्राइस्लर की जीप ग्रांड शेरोकी थी। निशाना लगा रहे थे दो साइबर सिक्यॉरिटी एक्स्पर्ट यानि हैकर चार्ली मिलर और क्रिस वैलासेक। गाड़ी के ऑनबोर्ड कम्प्यूटर में सेंध लगाने की कोशिश की और Car Hacking में कामयाब रहे। हाई वे पर किये गये इस कंट्रोल्ड टेस्ट में वे चलती गाड़ी को बंद करने में कामयाब रहे। वो भी दूर बैठे।
नतीजा यह हुआ कि पहले तो फिएट क्राइस्लर ने Car Hacking को सॉफ्टवेयर की मामूली चूक कहा और सॉफ्टवेयर अपग्रेड करने की बात कही। लेकिन बाद में 14 लाख शेरोकी जीप को रीकॉल करना पड़ा।
ये कहानी अभी पिछले सप्ताह की ही है।
अब खबर आ रही है कि मामला सिर्फ Fiat Chrysler के एक मॉडल तक सीमित नहीं है। अमेरिका में हाईवे ट्रेफिक सेफ्टी अथॉरिटी एनएचटीएसए के प्रमुख मार्क रोज़काइंड ने कहा है कि जिस कम्पनी ने शेरोकी के लिये इन्फोटेनमेंट सिस्टम बनाया वो कई कम्पनियों को इसकी सप्लाई करती है। ऐसे में Car Hacking का खतरा बहुत बड़ा हो सकता है।
चार्ली मिलर के अनुसार शेरोकी जीप में जो इन्फोटेनमेंट सिस्टम लगा है वो हरमन का यूकनेक्ट है।
चूंकि अब मामला एनएचटीएसए, आम जनता और सांसदों तक पहुंच चुका है ऐसे में आने वाले दिनों में Car Hacking की और परतें खुलेंगी।
अभी एक अन्य हैकर ने कहा कि जनरल मोटर्स की गाडिय़ों में लगे ऑनस्टार वेहीकल कम्यूनिकेशन सिस्टम के मोबाइल एप में भी सेंध लगाई जा सकती है।
ऑटो इंडस्ट्री के इतिहास में पहली फिएट क्राइस्लर ने गाडिय़ोंं के इंजन, स्टीयरिंग और अन्य सिस्टम्स के Car Hacking से बचाने के लिये सॉफ्टवेयर अपग्रेड करने के लिये 14 लाख गाडिय़ों को रीकॉल किया है।
चार्ली मिलर और क्रिस वैलासेक ने वायरलैस सिस्टम का इस्तेमाल कर हाईवे पर चलती जीप शेरोकी का इंजन बंद कर दिया था। हैकरों के इस कमाल से इंटरनेट इनेबल्ड गाडियों की सुरक्षा को लेकर चिंता बढ़ रही है। Source: Autonews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here