BS3 : गाडिय़ों पर डिस्काउंट बम्पर के लिये हो जाइये तैयार

0
474

Honda-Wing-Ride-Weekend-with-G.O.D.SBS3 गाडिय़ों के बड़े स्टॉक को देखते हुये सियाम के जरिये ऑटो इंडस्ट्री ने 1 अप्रेल के बाद भी इनकी सेल्स और रजिस्ट्रेशन पर छूट देने की मांग की है लेकिन यदि छूट नहीं मिली तो आपके हाथ बम्पर डिस्काउंट की लॉटरी लग सकती है। सियाम (SIAM) भारत में ऑटोमोबाइल कम्पनियों की एसोसियेशन है।

1 अप्रेल से पूरे देश में सभी तरह की गाडिय़ों पर एक साथ BS4 उत्सर्जन मानक लागू हो रहे हैं। 1 अप्रेल के बाद भारत में सिर्फ BS4 या इससे ऊंचे मानक वाली गाडिय़ोंं का ही रजिस्ट्रेशन हो पायेगा। लेकिन कम्पनियों और डीलरों के पास 1 अप्रेल तक करीब 7.5 लाख टू-व्हीलर, 75 हजार ट्रक-बस, 45 हजार थ्री-व्हीलर और 20 हजार कार-यूवी आदि ऐसी गाडिय़ों का स्टॉक बच जाने की उम्मीद है जो BS3 मानकों वाली हैं।

भारत सरकार की ट्रान्सपोर्ट मिनिस्ट्री ने 19 अगस्त 2015 को एक नोटिफिकेशन जारी कर कहा था कि 1 अप्रेल 2017 से देशभर में सिर्फ BS4 वेहीकल्स ही बनेंगे।

3 अक्टूबर को दिल्ली में हुई सुप्रीम कोर्ट की मॉनिटरिंग वाली ईपीसीए यानि एन्वायर्नमेंट पॉल्यूशन कंट्रोल अथॉरिटी (EPCA) की मीटिंग में सियाम के BS3 गाडिय़ों का बड़ा स्टॉक बचा रह जाने की बात पर काफी स्पार्किंग हुई थी।

सियाम के एक्जेक्टिव डायरेक्टर टेक्निकल के.के. गांधी के अनुसार सरकार के नोटिफिकेशन में सिर्फ इतना कहा गया था कि 1 अप्रेल 2017 के बाद देश में सिर्फ BS4 एमिशन मानक वाले वेहीकल्स ही बनाये जा सकेंगे। लेकिन डीमनीटाइजेशन के असर के चलते BS3 गाडिय़ों के बिना बिके स्टॉक को निपटा पाना करीब-करीब नामुमकिन है। यदि ईपीसीए इन गाडिय़ों को 1 अप्रेल के बाद भी बेचने देने की मांग नहीं मानती है तो इन्हें स्क्रेप करना पड़ेगा।

सियाम के इस तर्क पर ईपीसीए ने बहुत कड़ा रुख अपनाया है और ईपीसीए के चेअरमैन भूरे लाल ने साफ कहा *आपको छह महिने दिये गये थे जो कम नहीं हैं।

ईपीसीए की सदस्य सुनीता नारायण से कहा *आपके पास 75 हजार ट्रक हैं! जब आपको अक्टूबर की मीटिंग में ही बता दिया गया था तो BS3 गाडिय़ों का उत्पादन घटाना चाहिये था*

बैठक में यह बात भी निकलकर आई कि 7.5 लाख टू-व्हीलर और 20 हजार कार-यूवी तो एक महिने में निपट सकते हैं लेकिन ट्रक-बस और थ्री-व्हीलर के सही स्टॉक की जानकारी लेने के लिये ईपीसीए ऑटो कम्पनियों के साथ मीटिंग करेगी।

अब चूंकि 1 अप्रेल सिर्फ 52 दिन दूर है और सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में काम कर रही ईपीसीए के रुख से करीब-करीब तय नजर आ रहा है कि वह ऑटो कम्पनियों को कोई कम से कम पैसेंजर वेहीकल्स और टू-व्हीलर के मामले में रियायत देने के मूड में नहीं है ऐसे में कम्पनियों को इस अटके स्टॉक को निपटाने के लिये बड़ी डिस्काउंट स्कीम्स लानी पड़ सकती है।

सियाम के महानिदेशक विष्णु माथुर ने कहा है कि ट्रान्सपोर्ट मिनिस्ट्री ने इन BS3 वेहीकल्स को 1 अप्रेल के बाद भी बेचने और रजिस्टर करने की मांग को मंजूर कर लिया है। लेकिन ईपीसीए ने कहा है कि वह इन गाडिय़ों को किसी भी हालत में 1 अप्रेल के बाद रजिस्टर करने की अनुमति नहीं देगी। 

ईपीसीए के चेअरमैन भूरे लाल ने लाइवमिंट को दिये एक इंटरव्यू में कहा है कि अक्टूबर में हुई मीटिंग में यह साफ कह दिया गया था कि 1 अप्रेल 2017 से सिर्फ बीएस4 गाडिय़ां ही रजिस्टर हो पायेंगी तो फिर ऑटो कम्पनियों को टेक्नोलॉजी अपग्रेड करने से किसने रोका था? यदि पेट्रोलियम मिनिस्ट्री पूरे देश में बीएस4 मानकों वाले फ्यूल की सप्लाई कर सकती है तो ऑटो कम्पनियां पीछे क्यों रह गईं?

यदि कम्पनियां को मजबूरी में डिस्काउंट स्कीम लानी पड़ती हैं तो फायदा आपको होता है। डिस्काउंट स्कीम्स की उम्मीद इसलिये भी ज्यादा है क्योंकि यूवी को छोड़ दिया जाये तो कार व वैन सैगमेंट में स्लोडाउन बना हुआ है।

सियाम की रिपोर्ट के अनुसार अप्रेल-दिसम्बर के बीच कार सैगमेंट में बमुश्किल 1.38 परसेंट की ग्रोथ है और यह भी ज्यादातर मारुति व ह्यूंदे के बेस्ट सेलर कार मॉडलों के जमे रहने के कारण है। इन 9 महिनों में भारत में कुल 20.34 लाख के मुकाबले 20.62 लाख कारें बिकीं। यूवी सैगमेंट में जो 28.25 परसेंट की ग्रोथ है उसका फायदा सभी कम्पनियों को बराबर नहीं मिल रहा है। यानि यूवी सैगमेंट मेंं भी डिस्काउंट स्कीम्स आ सकती हैं।

डीमनीटाइजेशन के चलते नवम्बर से जनवरी के बीच टू-व्हीलर मॉडलों की सेल्स भी बुरी तरह प्रभावित हुई है और कम्पनियों के पास इनका अच्छा-खासा स्टॉक जमा है। जनवरी में हीरो मोटोकोर्प और बजाज ऑटो की सेल्स में बड़ी गिरावट रही वहीं होन्डा टू-व्हीलर व टीवीएस ने फ्लेट ग्रोथ दर्ज की।

BS4 मानक के लिये इंजन को अपग्रेड करने से कीमत भी बढ़ेगी और ट्रक-बस जैसे मॉडलों के लिये यह बढ़ोतरी अच्छी-खासी होगी। जहां तक पैसेंजर वेहीकल सैगमेंट की बात है BS3 मॉडल ज्यादातर डीजल के यूटिलिटी वेहीकल होते हैं। अभी दो दिन पहले टोयोटा किर्लोस्कर ने कहा कि वह नॉन BS3 गाडिय़ां की सेल्स 1 साल पहले ही बंद कर चुकी हैं।       

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here