Bajaj Qute को अब शायद मिल जाये लॉन्च का रूट

0
483

Bajaj Qute पांच साल से कानूनी विवादों में फंसी क्वॉड्रीसाइकल Bajaj Qute के लिये लॉन्च का रास्ता खुलता नजर आ रहा है। भारत सरकार के सडक़ परिवहन और हाईवे मंत्रालय ने नोटिफिकेशन का ड्राफ्ट तैयार किया है जिसमें क्वॉड्रीसाइकल को वेहीकल कैटेगरी के रूप में एप्रूवल दिया गया है।

यदि सब ठीक रहा जो 216 सीसी के पेट्रोल इंजन से लैस ये चार पहिया कैब कुछ महिनों में लॉन्च हो सकती है। Bajaj Auto ने Bajaj Qute को 2012 के दिल्ली ऑटो एक्स्पो में इसे आरई60 के नाम से डिस्प्ले किया था।

यदि सरकार इस नोटिफिकेशन को जारी करती है तो फिर Bajaj Qute को एआरएआई (ऑटोमोटिव रिसर्च एसोसियेशन ऑफ इंडिया) के टेस्ट से गुजरना होगा। भारत में लॉन्च होने वाली सभी तरह की गाडिय़ों को एआरएआई देश के मानकों के हिसाब से टेस्ट करती है और उन्हें सर्टिफिकेट जारी करती है।

बजाज ऑटो और रेनो के बीच नैनो जैसी लो कॉस्ट कार डवलप करने के लिये समझौता हुआ था लेकिन Bajaj Auto ने जो प्रोटोटाइप बनाये थे उन्हें रेनो की मंजूरी नहीं मिली। आखिर Bajaj Auto ने उन्हीं प्रोटोटाइप के आधार पर क्यूट को डवलप किया है। लेकिन भारत में इसे ऑटो ड्राइवरों की ओर से कड़े विरोध का सामना करना पड़ा और कई अदालतों में Bajaj Qute को मंजूरी के खिलाफ पीआईएल लगी हुई हैं। जिनकी सुनवाई को स्टे करते हुये पूरे मामले को सुप्रीम कोर्ट अपने हाथ में ले चुका है।

भारत में कानूनी चुनौतियां खत्म नहीं होने को देखते हुये Bajaj Auto फिलहाल तुर्की सहित कुछ देशों को Bajaj Qute का सीमित मात्रा में एक्सपोर्ट कर रही है।

चूंकि सडक़ परिवहन मंत्रालय ने क्वॉड्रीसाइकल को अलग वेहीकल कैटेगरी के रूप में नोटिफिकेशन में शामिल कर लिया है इसका सीधा अर्थ है कि अब Bajaj Qute के रास्ते की सभी रुकावटें हट गई हैं। क्वॉड्रीसाइकल को अलग वेहीकल कैटेगरी के रूप में मान्यता देने के नोटिफिकेशन के खिलाफ शिकायत या सुझाव देने के लिये 30 दिन का समय है। इसके बाद फाइनल नोटिफिकेशन जारी किया जायेगा।

Bajaj Qute को कानूनी के साथ ही ऑटो इंडस्ट्री की कुछ कम्पनियों जिनमें टाटा मोटर्स और महिन्द्रा एंड महिन्द्रा प्रमुख हैं का भी विरोध झेलना पड़ा है। टाटा मोटर्स को लगता है कि Bajaj Qute के आने से उसके चार पहिया टेक्सी मॉडल मैजिक आइरस के लिये मुकाबला बढ़ेगा। महिन्द्रा एंड महिन्द्रा भी जिओ के नाम से इसी सैगमेंट में चार पहिये वाला मॉडल जिओ बेचती थी जिसे कम्पनी ने 2015 में बंद कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स में इंडस्ट्री सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि ड्राफ्ट नोटिफिकेशन से क्वॉड्रीसाइकल को वाहन के रूप में स्वीकार करने की सडक़ परिवहन मंत्रालय की मंशा का अंदाजा हो जाता है। यदि क्वॉड्रीसाइकल को मंजूरी मिलती है तो यह नई वेहीकल कैटेगरी के रूप में विकसित हो सकती है और दूसरी कम्पनियां भी इस तरह के प्रॉडक्ट लॉन्च कर सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here