Bajaj Auto ट्रेक नहीं ट्रेडमिल पर

0
414

pulsar

कुछ महिने पहले Bajaj Auto ने Pulsar RS200 को लॉन्च किया है। भले ही डिजायन्ड एंड डवलप्ड इन इंडिया हो लेकिन प्रॉडक्ट क्वॉलिटी इंटरनेशनल है। पल्सर से लेकर डिस्कवर तक हर मॉडल एक्सीलेंट डिजायनिंग और परफॉर्मेन्स का नमूना है। लेकिन अपने ही घर में Bajaj Auto चुनौतियों से घिरी है। वित्तीय वर्ष 2012 से शुरू हुआ सेल्स में गिरावट का दौर दर्जन भर मॉडल लॉन्च होने के बावजूद चल ही रहा है। इन चार सालों में Bajaj Auto की डॉमेस्टिक मार्केट में सेल्स 25,66,757 यूनिट्स से गिरते हुये पिछले वित्तीय वर्ष में 17,70,778 यूनिट्स तक आ गई। कम्पनी जो भी नये मॉडल ला रही है वो वॉल्यूम ग्रोथ के बजाय गिरावट को थामने की कोशिश साबित हो रहे हैं और लग रहा है कि कम्पनी की पूरी कवायद ट्रेड मिल पर दौडऩे जैसी है। हाल के महिनोंं में आये दो बयानों से यह भी अंदाजा लगाया जा सकता है कि कम्पनी को ट्रेड मिल से उतरकर ट्रेक पर आने में अभी थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है।
पहला बयान 3 दिसम्बर 2014, मनीकंट्रोल: राजीव बजाज *between January and April we have four launches in virtually every segment, four new products over four months. We hope to be back to about 22-23 percent market share by March-April.*

जनवरी से अप्रेल के बीच बजाज ऑटो ने Platina ES, CT100, Pulsar AS200, Pulsar AS150 और Pulsar RS200 आदि कुल पांच मॉडल लॉन्च किये। इससे पहले अगस्त 2014 में Discover150 बाजार में आई थी। सितम्बर में डिस्कवर150 की 28 हजार यूनिट्स डिस्पैच हुई थीं। यानि आठ महिने में कम्पनी अलग-अलग सैगमेंट में 6 मॉडल लेकर आई।
एक के बाद एक पांच नये मॉडलों के लॉन्च को ध्यान में रखते हुये देखें तो कम्पनी ने पिछले वित्तीय वर्ष की आखिरी तिमाही में 379437 बाइक्स बेचीं। जबकि वित्तीय वर्ष 2013-14 की जनवरी-मार्च की तिमाही में Bajaj Auto का डॉमेस्टिक वॉल्यूम 493922 यूनिट्स था। यानि पांच मॉडलों के लॉन्च के बावजूद कम्पनी की सेल्स इस तिमाही में 23.17 फीसदी घटी।
31 मार्च को समाप्त हुये वित्तीय वर्ष के आंकड़े देखें तो Bajaj Auto ने कुल 3292396 बाइक्स सेल कीं। जिनमें से डॉमेस्टिक मार्केट में 1770778 यूनिट्स का वॉल्यूम था। सियाम के आंकड़ों के अनुसार वित्तीय वर्ष 2014-15 में देश में कुल 10743549 (एक करोड़ सात लाख तियालीस हजार पांच सौ उन्चास) बाइक्स बिकीं। इस हिसाब से कम्पनी का मार्केट शेयर 16.48 फीसदी हुआ।
bajaj analysisनया साल: अभी दो दिन पहले Bajaj Auto ने नये वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही के रिजल्ट जारी किये हैं। रिजल्ट्स के अनुसार पहली अप्रेल-जून 2015-16 में कम्पनी ने कुल 875000 बाइक्स बेचीं जिनमें से 389000 यूनिट्स एक्सपोर्ट की गईं। यानि डॉमेस्टिक मार्केट में कम्पनी की सेल्स 486000 यूनिट्स की हुई। जबकि पिछले वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में Bajaj Auto ने डॉमेस्टिक मार्केट में 4,91,000 बाइक्स बेची थीं।
SIAM के अनुसार पहली तिमाही में देश में 2767408(सत्ताईस लाख सढ़सठ हजार चार सौ आठ) बाइक्स की सेल हुई। यानि बाइक सैगमेंट में Bajaj Auto का मार्केट शेयर 17.89 फीसदी रहा।
यानि Rajiv Bajaj पांच नये लॉन्च के दम पर जो मार्केट शेयर मार्च-अप्रेल में हासिल करना चाहते थे वो जून में भी हासिल नहीं हो पाया।

दूसरा बयान 26 जुलाई 2015, ईटी ऑटो: एस रविकुमार * Going ahead, we plan to launch one more product in the mid segment and also few products in the sports segment.”With these launches, the company expects its market share to touch 23 per cent by March 31, 2016, Bajaj Auto president (Business Development & Assurance) S Ravikumar told PTI.

दिसम्बर और जुलाई में Bajaj Auto की ओर से आये दो बयानों में विरोधाभास साफ नजर आ रहा है। राजीव बजाज के अनुसार 22-23 फीसदी मार्केट शेयर वित्तीय वर्ष 2014-15 के आखिर तक हासिल होना था लेकिन रविकुमार के अनुसार यह वित्तीय वर्ष 2015-16 के आखिर तक हासिल हो सकता है।
Bajaj Discover150 लाइफ में नो ज़िंग: डिस्कवर रेंज के फ्री फॉल को रोकने के लिये Bajaj Auto ने सितम्बर 2014 में बड़े मीडिया केम्पेन के साथ Discover150 को लॉन्च किया था। शुरूआती महिने में 28 हजार यूनिट्स के डिस्पैच हुये तो कम्पनी को लगा कि शायद जो डैमेज हुआ है वो कंट्रोल हो सकता है। बाद के महिनों में डिस्कवर150 को जमाने के लिये Zing Zong Ride का भी खूब प्रचार किया लेकिन जून के आंकड़ों की बात करें तो Discover150 की सेल्स बुरी तरह धाराशायी होते हुये सिर्फ 2311 यूनिट्स की रह गई।
Platina और CT100: पिछले साल मार्च में 42949 Platina की सेल्स हुई जबकि मार्च 2015 में Platina ES लॉन्च होने के बावजूद सिर्फ 29282 Platina बिक पाई यानि 32 फीसदी का घाटा हुआ। अप्रेल में 48544 के मुकाबले 27168, मई में 56993 की तुलना में 24043 और जून में 47670 के मुकाबले 25266 प्लेटिना बिकीं। अप्रेल से जून की तिमाही में Platina की बिक्री 153207 के मुकाबले घटकर 76477 यूनिट्स रह गई। हालांकि कम्पनी ने पहली तिमाही के नतीजों में कहा है कि Platina की सेल्स में 15 फीसदी का फायदा हुआ है। यह संभवत: तिमाही-तिमाही आधार पर है।

Read Also: डिस्कवर डिलेमा में फंस गई बजाज
बजाज पल्सर आरएस200: अर्बन एंड स्पोर्ट

यदि बात CT100 की करें तो कम्पनी की रिपोर्ट के अनुसार चालू वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में 173000 यूनिट्स की बिक्री हुई। मार्च में इसके डिस्पैच शुरू हुये थे और पहले महिन मेें 29219 CT100 डीलरों तक पहुंचीं। अप्रेल में इसके डिस्पैच तेजी से बढ़ते हुये 53331 यूनिट्स तक पहुंच गये और मई में 66263 यूनिट्स। लेकिन जून में इसमें तेज गिरावट हुई और डिस्पैच वॉल्यूम करीब 18 फीसदी घटकर 54362 यूनिट्स रह गया।साफ है कि कम्पनी लॉन्ग टर्म समझकर जो कदम उठा रही है वो क्विक फिक्स यानि फौरी साबित हो रहे हैं।20150731061110

बॉटम आउट: एंजल ब्रोकिंग की रिपोर्ट को माने तो वित्तीय वर्ष 2012 में Bajaj Auto ने जो 25.66 लाख बाइक्स बेची थीं वो स्तर वित्तीय वर्ष 2016 तो क्या 2017 में भी हासिल नहीं होता लग रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि कम्पनी चालू वित्तीय वर्ष के आखिर तक 19,26000 का वॉल्यूम डॉमेस्टिक मार्केट में हासिल कर सकती है और वित्तीय वर्ष 2017 में 21,24000 के स्तर पर पहुंचने की स्थिति में है। यानि साफ है कि वित्तीय वर्ष 2015 में 17.70 लाख यूनिट्स के साथ Bajaj Auto की सेल्स बॉटम आउट हो रही है और आगे के सालों में इसमें ग्रोथ नजर आयेगी।