Ashok Leyland की ट्रक-बस सेल्स 48 फीसदी बढ़ी, टर्नओवर में 39 फीसदी की ग्रोथ

0
722

Ashok Leyland 4940 Euro-6 Truckहिंदुजा ग्रुप की कम्पनी Ashok Leyland के लिये पिछला वित्त वर्ष बहुत अच्छा रहा और कम्पनी की ट्रक-बस सेल्स में 48 फीसदी का रिकॉर्ड उछाल दर्ज किया गया। पिछले वित्त वर्ष में Ashok Leyland का रेवेन्यू 39 फीसदी की ग्रोथ के साथ 18822 करोड़ रुपये रहा।

वित्त वर्ष 2014-15 में देश की दूसरी सबसे बड़ी एमएचसीवी यानि ट्रक-बस बनाने वाली कम्पनी Ashok Leyland का रेवेन्यू टर्नओवर 13562 करोड़ रहा था।

वित्त वर्ष 2015-16 में Ashok Leyland का प्रॉफिट आफ्टर टेक्स यानि पीएटी (एक्सेप्शन को हटाकर) 115 फीसदी ग्रोथ के साथ 335 करोड़ से बढक़र 722 करोड़ रुपये तक पहुंच गया।

Ashok Leyland के अनुसार सेल्स वॉल्यूम बढऩे, ऑपरेटिंग कॉस्ट घटने और प्रॉडक्ट पोर्टफोलियो में सुधार आने से यह ग्रोथ दर्ज की गई है। पिछले वित्त वर्ष में कम्पनी का एबिटा 1027 के मुकाबले 2166 करोड़ रुपये रहा।

सेल्स एंड मार्केट शेयर: Ashok Leyland ने एक स्टेटमेंट में कहा है कि पिछले वित्त वर्ष में एमएचसीवी यानि मीडियम एंड हैवी कमर्शियल वेहीकल्स (ट्रक-बस) की भारत में सेल्स वित्त वर्ष 2014-15 की 66442 के मुकाबले 48 फीसदी से भी ज्यादा ग्रोथ के साथ 98809 यूनिट्स तक पहुंच गई जिससे कम्पनी की मार्केट पोजिशन में सुधार हुआ है।

वित्त वर्ष 2015-16 में Ashok Leyland ने भारत में कुल 127321 गाडिय़ां बेचीं जो वित्त वर्ष 2014-15 में हुई 92004 यूनिट्स की सेल्स के मुकाबले 38.38 फीसदी अधिक है। बस सैगमेंट में Ashok Leyland का मार्केट शेयर वित्त वर्ष 2014-15 के 35.70 के मुकाबले 44.63 फीसदी हो गया। वहीं ट्रक सैगमेंट में 27.20 के मुकाबले अशोक लेलैंड पिछले वित्त वर्ष में 30.65 फीसदी मार्केट शेयर पर पहुंच गई।

दोस्त वाले एलसीवी सैगमेंट में Ashok Leyland ने पिछले वित्त वर्ष में 30695 गाडिय़ां बेचीं जो कि वित्त वर्ष 2014-15 में हुई 27242 यूनिट्स के मुकाबले 12.67 फीसदी अधिक है।

इस अवधि में Tata Motors का कमर्शियल व्हीकल सैगमेंट में कुल 304256 यूनिट्स का वॉल्यूम रहा जबकि वित्त वर्ष 2014-15 में यह 290430 यूनिट्स था। सेल्स वॉल्यूम में बढ़ोतरी के बावजूद Tata Motors का मार्केट शेयर 47.23 फीसदी से घटकर 44.37 फीसदी रह गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here