नये मॉडल हैं ग्रोथ का फंडा

0
439

140524-171521जयपुर। त्योंहार के बिक्री आंकड़े आ गये। वैसे ऐसी परफॉर्मेन्स की भी उम्मीद नहीं थी। लेकिन दस दिन में जो माहौल बदला उसका असर आंकड़ों पर साफ नजर आ रहा है। शेयर बाजार अचानक ऑल टाइम हाई के करीब पहुंच गया। इससे भी आखिरी दिनों में सेंटीमेंट पॉजिटिव हुआ। मानसून का फायदा मिलने लगा है और आने वाले महिनों में ऑटो कम्पनियों का फोकस अर्बन से ज्यादा रूरल बाजार पर रहने के संकेत मिल रहे हैं।
अक्टूबर में कार बाजार का रुख वैसे मिला जुला ही रहा है। कुछ कम्पनियों को अच्छा फायदा नजर आ रहा है वहीं कुछ की बिक्री फ्लैट रही है। लेकिन एक संकेत साफ नजर आता है औ वो यह कि जिन कम्पनियों ने पिछले महिनों में नये मॉडल पेश किये उन्हें बिक्री का मोर्चा फतेह करने में मदद मिली है।
फोर्ड की ईकोस्पोर्ट के बुंकिंग दस महिने तक पहुंच चुकी है। कम्पनी हर महिने साढ़े पांच-छह हजार ईकोस्पोर्ट की डिलीवरी कर रही है, कुछ वैरियेंटों की बुकिंग बंद कर चुकी है फिर भी ईकोस्पोर्ट के लिये दीवानगी बढ़ती जा रही है। अक्टूबर में फोर्ड इंडिया ने डॉमेस्टिक बाजार में 9163 यूनिट्स की बिक्री की है जो पिछले वर्ष अक्टूबर में हुई 7577 यूनिट्स की बिक्री के मुकाबले 21 फीसदी अधिक है। पिछले वर्ष दिवाली पर ईकोस्पोर्ट थी नहीं ऐसे में पिछले और इस वर्ष अक्टूबर के डिस्पैच में सिर्फ 1600 यूनिट्स का अंतर होना भी यह साबित कर रहा है कि कम्पनियों की बिक्री में नये मॉडलों की लोडिंग बहुत ज्यादा हो चुकी है।
होन्डा कार्स इंडिया के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट ज्ञानेश्वर सेन कहते हैं कि बाजार के हालात खराब हैं लेकिन अमेज को मिल रहे समर्थन से उम्मीद जगी है। अक्टूबर में 11214 होन्डा कारों की बिक्री हुई है जिसमें करीब साढ़े नौ हजार अकेली अमेज हैं।
हुंडई की भी हाल ही में ग्रांड आई-10 बाजार में आई है। लेकिन घरेलू बिक्री पर इसका फायदा मिलता नजर नहीं आया। कारण भी साफ है कम्पनी ने पुरानी आई-10 के कुछ वैरियेंटों को बंद किया है ऐसे में यदि कम्पनी पिछले वर्ष अक्टूबर के करीब-करीब बराबर गाडिय़ां बेच पाई है तो यह भी ग्रांड के ही जमने के संकेत हैं। सितम्बर में हुंडई ने करीब साढ़े आठ हजार ग्रांड के डिस्पैच किये थे।
करीब साढ़े चार महिने बंद रहने के बाद टवेरा का उत्पादन अभी 10 दिन पहले ही शुरू हुआ है। टवेरा की महिने की एवरेज 1500 यूनिट्स की बिक्री का फायदा जीएम को आने वाले महिनों में मिलेगा। जीएम ने अक्टूबर में 7715 गाडिय़ां बेचीं जो पिछले वर्ष अक्टूबर में हुई 6754 यूनिट्स की बिक्री के मुकाबले करीब 15 फीसदी बेहतर है और इसमें सबसे बड़ा योगदान सेल रेंज की 1800 यूनिट्स का रहा है इसके अलावा एंजॉय भी महिने दर महिने 1800-2000 ग्राहकों तक पहुंच रही है।
बात टू-व्हीलर सैगमेंट की करें तो हीरोमोटोकोर्प ने 6.25 लाख गाडिय़ां डिस्पैच कर रिकॉर्ड भले ही बना लिया हो लेकिन एक साथ पंद्रह मॉडल अपग्रेड लॉन्च करने और दिवाली के दस बारह दिन पहले तक डीलरों के यहां नहीं पहुंच पाने के कारण आने वाले महिनों में इन्वेंटरी अटकने की खबरें फिर सुनाई दे सकती हैं।
होन्डा टू-व्हीलर की नई बह्यजट बाइक्स और नेटवर्क एक्सपेंशन पर की गई मेहनत रंग दिखा रही हैॅ। कम्पनी एक वर्ष में ढ़ाई लाख से पौने चार तक पहुंच चुकी है।
महिनों तक निगेटिव ज़ोन में रही टीवीएस भी अब ग्रोथ सैगमेंटों पर फोकस बढ़ा रही है जिसका फायदा भी मिल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here