फेस्टिव सीजन की तैयारियों के कारण बढ़ी अगस्त में सेल्स

0
597

August Car Salesअगस्त में अच्छी बारिश के साथ गाडिय़ों की अच्छी सेल्स भी हुई। पैसेंजर वेहीकल सैगमेंट में ज्यादातर कम्पनियों को फायदा हुआ। कारण नये मॉडलों को मिला रेस्पॉन्स भी है और अच्छे-खासे डिस्काउंट भी। फेस्टिव सीजन के कारण कम्पनियां डिस्पैच भी बढ़ा रही हैं।
अगस्त में कुल 253007 कार-वैन-यूवी बिकीं जो कि पिछले साल अगस्त में हुई 216352 गाडिय़ों की सेल्स के मुकाबले कोई 15 परसेंट ज्यादा है। मास सैगमेंट की कम्पनियों में होन्डा और जनरल मोटर्स को ही नुकसान हुआ है।
मारुति के बेस्ट सेलर मॉडल ऑल्टो, स्विफ्ट और डिज़ायर कमजोर पड़ रहे हंैं लेकिन बलेनो, विटारा ब्रेज़ा और सियाज़ से कम्पनी को घाटा पूरा करने और वॉल्यूम बढ़ाने में मदद मिल रही है। अगस्त में मारुति की 119931 गाडिय़ां बिकीं जो पिछले साल अगस्त में हुई 106781 यूनिट्स की सेल्स के मुकाबले 12.3 परसेंट ज्यादा है।
क्रेटा, इलीट आई-10 और ग्रांड आई-10 के दम पर ह्यूंदे की सेल्स 43202 यूनिट्स रही जो पिछले साल अगस्त के 40505 यूनिट्स के वॉल्यूम के मुकाबले 6.7 परसेंट ज्यादा है।
ऑटो इंडस्ट्री के जानकार कहते हैं कि शुरूआत के 5 महिनों की परफॉर्मेन्स से लगता है कि फाइनेंशियल ईयर का अंत डबल डिजिट ग्रोथ के साथ होगा। सियाम भी अपने ग्रोथ के आंकलन को अब सुधारने की बात कह रही है। कुछ महिने पहले सियाम ने कहा था कि सेल्स में 6-8 परसेंट ग्रोथ होगी। लेकिन ह्यूंदे के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट राकेश श्रीवास्तव के अनुसार 15-16 परसेंट की ग्रोथ रहने का अनुमान है। क्रेटा, होन्डा बीआर-वी, मारुति ग्रांड विटारा और एस-क्रॉस और महिन्द्रा केयूवी100 को मिल रहे रेस्पॉन्स के कारण एसयूवी सैगमेंट में 42 फीसदी की ग्रोथ हो सकती है जबकि कार की सेल्स में 10 परसेंट की बढ़त हो सकती है।
प्राइसवॉटरहाउसकूपर्स के ऑटो एनेलिस्ट अब्दुल मजीद के अनुसार अच्छे मॉनसून, केंद्रीय कर्मचारियों को पे कमिशन लागू होने के कारण मिला एरिअर और कई मॉडलों पर अच्छे डिस्काउंट के चलते फेस्टिव सीजन के 3 महिने बहुत अच्छे रहने की उम्मीद है। नये एसयूवी मॉडल कस्टमर को खींच रहे हैं और फस्र्ट टाइम कार बायर में पेट्रोल की पसंद बढ़ रही है। यह फेस्टिव सीजन 3 साल में सबसे अच्छा गुजरने की उम्मीद है। रूरल सेंटिमेंट में मॉनसून से बहुत सुधार हुआ है लेकिन इन्फ्लेशन बढऩे की चिंता है। साथ ही जीएसटी लागू होने के बाद गाडिय़ां सस्ती होने की उम्मीद में कस्टमर फिलहाल परचेज़ को कुछ महिने टाल सकते हैं।
मौसम विभाग की रिपोर्ट कहती हैं कि मॉनसून के 3 महिनों में 36 में से 30 डिविजन में सामान्य या ज्यादा बारिश हुई है।
टू-व्हीलर सैगमेंट में हीरो मोटोकोर्प, होन्डा मोटरसाइकल एंड स्कूटर्स इंडिया, रॉयल एनफील्ड, टीवीएस, यामहा और बजाज ऑटो आदि ज्यादातर बड़े ब्रांड्स की सेल्स 25 से 30 परसेंट बढ़ी है और रूरल इकोनॉमी में सुधार का फायदा एंट्री लेवल कम्यूटर मॉडलों को होगा जिससे सैगमेंट वॉल्यूम में बढ़ोतरी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here