निसान सेफ्टी ड्राइव फोरम का जयपुर में आयोजन

0
1275

nissanनिसान इंडिया ने रोड सेफ्टी को बढ़ावा देने के लिये देशभर में चल रहे कार्यक्रम निसान सेफ्टी ड्राइव फोरम का जयपुर में आयोजन किया है। इस मौके पर निसान इंडिया सेल्स एंड मार्केटिंग उपाध्यक्ष अजय रघुवंशी ने बिज़डम ऑटो को बताया कि पिछले वर्ष एनएसडीएफ 10 शहरों में आयोजित किया गया था और इस वर्ष 9 शहरों में इसे ले जाने की योजना है।
उन्होंने बताया कि दुनिया में सबसे ज्यादा सडक़ हादसे भारत में होते हैं और हर वर्ष करीब डेढ़ लाख लोगों की मौत होती है। सडक़ हादसों के लिहाज से देश में राजस्थान भी छठे स्थान पर है। लेकिन एनएसडीएफ जैसे कार्यक्रमों के जरिये सडक़ सुरक्षा और कारों में सेफ्टी फीचर्स के बारे में जागरूकता पैदा की जा सकती है। निसान इंडिया ने कॉर्पोरेट सोशियल रेस्पॉन्सिबिलिटी के इस कार्यक्रम पर 13 करोड़ रुपये का निवेश किया है।
एनएसडीएफ मेें कम्पनी ने कार के सेफ्टी फीचर्स के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिये सिमुलेटर का सहारा लिया है। पहला सिमुलेटर रोल ओवर है जिसमें हादसे में कार पलटने की स्थिति में पैदा होने वाले हालातों के बारे में समझ पैदा की जाती है। इससे सीट बेल्ट की अहमियत को लेकर जागरूकता बढ़ाने की कोशिश है। रोलओवर सिमुलेटर में गाड़ी पलट कर एक पूरा चक्कर काटती है और यदि सीट बेल्ट बंधी हो तो ड्राइवर व पैसेंजर अपनी सीट से हिलते भी नहीं है यानि हादसे में चोट लगने की आशंका बहुत कम हो जाती है। दूसरा सिमुलेटर क्रेश यानि आमने-सामने की भिड़ंत के हालात पैदा करता है जिसमेंं सिमुलेटर पांच किमी की स्पीड से चलते हुये टकराता है और ड्राइवर साइड एअरबैग खुलता है। इस सिमुलेटर से एअरबैग की अहमियत के बारे में ग्राहकों को जागरूक करने की कोशिश है।
तीसरा सिमुलेटर ड्राइव टेस्ट का है जिसमें रोड़ पर ड्राइविंग की कुशलता को परखा जाता है।
अजय रघुवंशी के अनुसार अब तक एनएसडीएफ में 70 हजार लोग हिस्सा ले चुके हैं और जल्दी ही यह आंकड़ा एक लाख तक पहुंच जायेगा।