चीन में कार बिक्री एक करोड़ पार

0
1142

global salesदो साल पहले अमेरिका को पछाड़ दुनिया के सबसे बड़े वाहन बाजार बने चीन में जनवरी से जुलाई के बीच के सात महिनों में ही एक करोड़ से ज्यादा कारें बिक चुकी हैं। जबकि करीब 95 लाख के साथ अमेरिका दूसरे स्थान पर है। अमेरिक के आंकड़े कार+लाइट मोटर वेहीकल के हैं जिनमें पिकअप ट्रक शामिल किये जाते हैं। 7 महिने में भारत से 7 गुना बिकीं कारें 
जनवरी-जुलाई में चीन में 1,01,26,900 यानि एक करोड़ एक लाख 26 हजार 9 सौ गाडिय़ां बिकीं। भारत में इसी अवधि में यह आंकड़ा 14,90,400 यानि 14 लाख 90 हजार 4 सौ यूनिट्स का था। चीन और अमेरिका के बाद बिक्री के लिहाज से तीसरा सबसे बड़ा कार बाजार पश्चिमी यूरोप है लेकिन यह अकेला देश नहीं बल्कि 15देशों और ईएफटीए का गुट है। शुरुआती सात महिनों में पश्चिमी यूरोप में 73,95,300 गाडिय़ां बिकीं। जापान में इस दौरान करीब तीस लाख (29,57,900) कारों के रजिस्ट्रेशन हुये। ब्राजील अभी भी भारत से बड़ा बाजार है और यहां सात महिनों में 18,65,100 हल्के वाहन बिके।
यदि बात इस अवधि में ग्रोथ मार्केट्स की करें तो सबसे ज्यादा 14 फीसदी बिक्री चीन में ही बढ़ी है। इसके अलवा अमेरिका, प.यूरोप, जापान में कार मार्केट बढ़ा वहीं भारत, रूस और ब्राजील में बिक्री में गिरावट आई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here