कार में सुधार लेकिन बाइक्स और फिसली

0
805

SIAM FEB15

फरवरी में कारों की बिक्री 6.85 फीसदी बढऩे से कंज्यूमर सेंटिमेंट में सुधार के संकेत मिल रहे हैं और इसे देखते हुये सियाम ने उम्मीद जताई कि वित्तीय वर्ष का अंत सिंगल डिजिट ग्रोथ के साथ होगा। सियाम द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार फरवरी में कार बिक्री 1,60,717 के मुकाबले 1,71,727 यूनिट्स रही है। सियाम के उप महानिदेशक सुगतो सेन के अनुसार बिक्री में आई तेजी कंज्यूमर सेंटिमेंट में सुधार की ओर इशारा कर रही है। बजट में उठाये गये कदमों से इकोनॉमी के हालात सुधरने का रास्ता खुल सकता है। कार सेल्स पर असर डालने वाले निगेटिव सेंटिमेंट अब कमजोर पड़ रहे हैं। चूंकि मार्च हमेशा से ही सेल्स के लिहाज से अच्छा रहता है ऐसे में सुधार का यह दौर वित्तीय वर्ष के आखिरी महिने में भी बरकरार रहने की उम्मीद है।
सेन के अनुसार इकोनॉमी को सुधारने के लिये बजट में उठाये गये कदमों से सभी सैगमेंट में डिमांड बढऩे की आशा है। मनरेगा के लिये बजट बढ़ाने से गांवों में रोजगार बढ़ेंगे जिससे आमदनी में इजाफा होगा जिससे टू-व्हीलर और हल्के कमर्शियल वाहनों की मांग बढ़ेगी।
एक ओर कार बिक्री लगातार बढ़ रही है वहीं बाइक्स में अक्टूबर से शुरू हुआ गिरावट का दौर फरवरी में भी जारी रहा। फरवरी में कुल 12,08,084 टू-व्हीलर बिके पिछले वर्ष फरवरी में हुई 12,20,141 यूनिट्स की बिक्री के मुकाबले 0.99 फीसदी कम है। सियाम के अनुसार बाइक्स की बिक्री 8,43,436 के मुकाबले 8.22 फीसदी घटकर 7,74,122 यूनिट्स रह गई। सेन के अनुसार कमजोर फसल और मनरेगा के लिये बजट खत्म हो जाने से गांवों में बाइक्स की डिमांड घटी है। देश की सबसे बड़ी टू-व्हीलर कम्पनी हीरो मोटोकोर्प ने इस महिने 407809 बाइक्स बेचीं जो पिछले वर्ष फरवरी में हुई 441716 यूनिट्स की बिक्री के मुकाबले 7.68 फीसदी कम है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here