एअरबैग संकट: 21 लाख गाडिय़ां फिर होंगी रीकॉल

0
1545

Airbag_02

एअरबैग रीकॉल का संकट ऑटो इंडस्ट्री का पीछा नहीं छोड़ रहा है, अमेरिका के ट्रेफिक सेफ्टी नियामक एनएचटीएसए ने टोयोटा, होन्डा और फिएट क्राइस्लर को उन 21 लाख गाडिय़ों को फिर से रीकॉल करने को कहा है जो पहले भी रीकॉल हो चुकी हैं और जिनके एअरबैग बिना जरूरत के अपने आप खुल सकते हैं।
एनएचटीएसए के अधिकारी मार्क रोज़काइंड के अनुसार इन गाडिय़ोंं में बिना जरूरत एअरबैग खुलने के 400 मामले सामने आ चुके हैं जिनमें मामूली चोट लगी लेकिन किसी की मौत नहीं हुई। इन गाडिय़ों में लगी एक चिप में खाली है और इस गड़बड़ी को सही करने के लिये टीआरडब्ल्यू ऑटोमोटिव होल्डिंग के बनाये सर्किट सहित पूरे एअरबैग मॉड्यूल को बदलना पड़ेगा। इस रीकॉल में शामिल कम्पनियां चिप की इस समस्या को दूर करने के लिये पहले भी गाडिय़ों को वापस बुला चुकी हैं लेकिन पहले से रीकॉल कर सुधारी जा चुकी गाडिय़ों में एअरबैग अपने आप खुलने के ऐसे 39 मामले सामने आये हैं।
एनएचटीएसए ने एक बयान जारी कर कहा है कि एअरबैग में गड़बड़ी का यह मामला ताकाता एअरबैग रीकॉल मामले से अलग है। ताकाता एअरबैग रीकॉल मामले में गाड़ी का एअरबैग धमाके के साथ फटता है जिससे मैटल पार्ट्स उड़ते हैं जिससे ड्राइवर को चोट लगती है।
होन्डा मोटर कम्पनी ने कहा है कि वह इस नई गड़बड़ी के चलते अमेरिका में होन्डा और अक्यूरा ब्रांड की 3.74 लाख गाडिय़ां रीकॉल करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here