फोक्सवैगन Emission Scandal: Audi A4, Jetta और Vento भारत में आई लपेट में

0
1611

volkswagen-logoअमेरिका और यूरोप के बाद फोक्सवैगन Emission Scandal के दायरे में कम्पनी के भारत में बिक रहे मॉडल भी आ गये हैं। भारत सरकार ने कम्पनी को नोटिस देकर अपना पक्ष रखने को कहा है।
भारत सरकार द्वारा Emission Scandal मामले में फोक्सवैगन ग्रुप के डीजल मॉडलों की एमिशन टेस्टिंग की जिम्मेदारी एआरएआई को सौंपी थी। एजेंसी ने हेवी इंडस्ट्रीज मिनिस्ट्री को सौंपी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि Audi A4 के अलावा Volkswagen Vento और Jetta की लैब में एमिशन टेस्टिंग और ऑन रोड एमिशन टेस्टिंग के नतीजों में बड़ा अंतर है।
हेवी इंडस्ट्रीज मिनिस्ट्री के एडिशनल सेक्रेटरी अम्बुज शर्मा के अनुसार Emission Scandal मामले में कम्पनी को नोटिस जारी कर 30 नवम्बर तक अपना पक्ष रखने का निर्देश दिया गया है। शर्मा के अनुसार एआरएआई ने पोलो, वेंतो, जेटा और ऑडी ए4 की लैब और ऑन रोड एमिशन टेस्टिंग की थी। इनमें से वेंतो, जेटा और ऑडी ए4 के लैब और ऑन रोड एमिशन टेस्टिंग के आंकड़ों में बड़ा अंतर है। वहीं पोलो के मामले में यह अंतर बाकी तीन मॉडलों से कहीं कम है। नोटिस पर कम्पनी का पक्ष जानने के बाद ही सरकार आगे की कार्यवाही पर फैसला लेगी।
बुधवार को अम्बुज शर्मा ने कहा था कि यदि इस मामले में कम्पनी की गलत मंशा साबित होती है तो क्रिमिनल केस और जुर्माने के अलावा रीकॉल तक का फैसला लिया जा सकता है।
फोक्सवैगन ग्रुप ने कहा है कि वह एआरएआई द्वारा जारी कारण बताओ नोटिस का 30 नवम्बर तक जबाव दे देगा।
फोक्सवैगन ग्रुप भारत में फोक्सवैगन, ऑडी और स्कोडा ब्रांड की गाडिय़ां बेचता है। इनके अलावा हाई एंड स्पोर्ट्स ब्रांड पोर्शा भी फोक्सवैगन ग्रुप का ही हिस्सा है।
एमिशन स्कैंडल सबसे पहले अमेरिका में सामने आया था और इसके बाद यूरोप, दक्षिण कोरिया और ऑस्ट्रेलिया सहित दुनिया के कई देशों में कम्पनी का बिजनस इसकी चपेट में आ चुका है।
फोक्सवैगन पर आरोप है कि यह अपने डीजल इंजन में खास सॉफ्टवेयर का गैरकानूनी तरह से इस्तेमाल कर रही थी। यह इंटेलीजेंट सॉफ्टवेयर लैब टेस्टिंग के समय तो एक्टिव हो जाता और एमिशन पर कंट्रोल करता लेकिन रोड ड्राइविंग की स्थिति को भांपते ही बंद हो जाता। इस तरह फोक्सवैगन की ई189 डीजल इंजन से लैस गाडिय़ां अमेरिका और दुनिया के अन्य देशों के उत्सर्जन मानकों को चकमा दे रही थीं।
इस मामले के सामने आने के बाद कम्पनी अपने सीईओ मार्टिन विंटरकॉर्न से इस्तीफा लेकर दुनिया भर में अपने कई ब्रांड्स की 1 करोड़ 10 लाख गाडिय़ों को रीकॉल करने की घोषणा कर चुकी है। Image Courtesy: ibtimes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here