महिन्द्रा TUV300+ लॉन्च के लिये तैयार, शेवरले Tavera के सैगमेंट पर है नज़र

audi emission scandal
लक्जरी कार पर फिर पड़ी टेक्स की मार, 10 परसेंट बढ़ गया GST सैस
December 28, 2017
first made in India car
1956 में बनी Pingle है पहली मेड इन इंडिया कार
January 1, 2018
MaHINDRA TUV 300+

Mahindra TUV300 Plusमहिन्द्रा एंड महिन्द्रा साल की शुरूआत में अपने पैसेंजर वेहीकल पोर्टफोलियो में नया मॉडल शामिल करने की तैयारी पूरी कर चुकी है। कई महिनों से ऑटो मीडिया पर नजर आ रही स्पाई तस्वीरों के बाद कम्पनी के चेअरमैन आनंद महिन्द्रा ने TUV300+ की आधिकारिक तस्वीरें ट्विटर पर शेयर की हैं।

महिन्द्रा के ट्रू ब्लू एसयूवी टीयूवी300 पर आधारित TUV300+ के बारे में आनंद महिन्द्रा ने लिखा है कि लॉन्च से पहले इसकी कुछ डिलिवरी दी गई हैं।

टीयूवी300 में जहां 1.5 ली. का डीजल इंजन है वहीं इस फुल वर्जन TUV300+ में 2.2 ली. का एमहॉक इंजन है जिससे 120 बीएचपी पावर मिलती है।

हालांकि कम्पनी ने इसकी प्राइस के बारे में अब तक कुछ नहीं कहा है लेकिन ऑटोमीडिया पर इसके डीलर इनवॉइस शेयर किये गये हैं जिनमें पी4 वैरियेंट की प्राइस 9.46 लाख रुपये बताई गई है।

माना जा रहा है कि TUV300+ के जरिये महिन्द्रा एंड महिन्द्रा की नजर टवेरा वाले कॉर्पोेरेट कैब सैगमेंट पर है। जीएम इंडिया हर महिने औसत 1 हजार शेवरले टवेरा बेच रही थी और टवेरा के बंद होने से खाली हुई जगह को महिन्द्रा एंड महिन्द्रा TUV300+ से भर सकती है। रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि महिन्द्रा TUV300+ कई तरह के सीटिंग अरेंजमेंट ऑप्शन में आयेगी।

हालांकि कम्पनी ने अभी कुछ नहीं कहा है लेकिन चर्चा है कि TUV300+ के लॉन्च के साथ ही कम्पनी 2009 में आये अपने महत्वाकांक्षी एमपीवी मॉडल जायलो को फेज़आउट कर सकती है। इसका कारण यह है कि जायलो की पोजिशनिंग कैब सैगमेंट में ही है।

महिन्द्रा एंड महिन्द्रा ने टीयूवी300 को 2015 में लॉन्च किया था। यह 4 मीटर से कम लम्बाई के कॉम्पेक्ट एसयूवी सैगमेंट में अकेला मॉडल है जो मोनोकॉक नहीं बल्कि चैसिस पर बना है और इसीलिये कम्पनी इसे ट्रू ब्लू एसयूवी कहती है। लेकिन मारुति विटारा ब्रेज़ा और फोर्ड ईकोस्पोर्ट के मुकाबले में यह टिक नहीं पा रहा है। मारुति विटारा ब्रेज़ा की महिने की औसत सेल्स 12-13 हजार यूनिट्स है वहीं फोर्ड ईकोस्पोर्ट 4 हजार बिकती हैं। इनके मुकाबले महिन्द्रा टीयूवी300 दो हजार के लेवल से आगे नहीं बढ़ पाई है। Image Courtesy: AutocarIndia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>