Cruise AV: General Motors की Driverless Car ड्राइवर को कर देगी बेकार

0
8

General Motors Self drive car without steering wheel, pedal, gear and brake

जनरल मोटर्स ने driverless car का ऐसा अवतार तैयार किया है जिसमें ना तो स्टीयरिंग व्हील है और ना ही एक्सीलरेटर पैडल और गियर लीवर। कम्पनी के एक अधिकारी के अनुसार जीएम ने इसके लिये अमेरिका सरकार से टेस्ट अप्रूवल मांगा और 2019 में इसे राइड शेयरिंग फ्लीट में शामिल किया जायेगा।

अभी जिन driverless cars का अमेरिका की सडक़ों पर ट्रायल किया जा रहा है उनमें हर समय लायसेंसधारी ड्राइवर मौजूद होना जरूरी है जो हादसे की आशंका की स्थिति में गाड़ी का कंट्रोल अपने हाथ में ले सके। लेकिन जीएम की driverless car Cruise AV एवी में तो कोई मैन्यूअल कंट्रोल ही नहीं हैं।

शेवरले बोल्ट ईवी पर आधारित इस कार को खासतौर से उन लोगों के लिये तैयार किया जा रहा है जो दरवाजा नहीं खोल सकते यानी अपाहिज़ हैं और इसमें ऐसे फीचर्स भी होंंगे जो Cruise AV नाम की इस driverless car को सुनने और देखने में असमर्थ लोगों के लिये भी उपयोगी बनायेेंगे।

कम्पनी के अनुसार यह कमर्शियल पैसेंजर सर्विस इस्तेमाल होने वाली पहली सेल्फ ड्राइव कारों में से एक होगी और इसमें स्टीयरिंग व्हील, एक्सीलरेटर और ब्रेक आदि के मैन्यूअल कंट्रोल की जरूरत नहीं है। यानी बोल्ट ईवी में जो ड्राइवर सीट है वो क्रूज़ एवी में फ्रंट लेफ्ट पैसेंजर सीट बन जायेगी।

GM के प्रेसिडेंट डैन अम्मान के अनुसार इसे सडक़ पर चलाने के लिये अमेरिकी सरकार से मंजूरी मांगी गई है। प्रॉडक्शन के लिये तैयार इस कार को इस तरह डिजायन किया गया है ताकि स्टीयरिंग व्हील, ब्रेक, एक्सीलरेटर और गियर आदि के मैन्यूअल कंट्रोल की जरूरत ही नहीं रहे।

अमेरिका में ऑटो इंडस्ट्री की रेगुलेटर नेशनल हाईवे ट्रेफिक सेफ्टी एडमिनिस्ट्रेशन यानी एनएचटीएसए ने कहा है कि जनरल मोटर्स ने बिना स्टीयरिंग व्हील और बिना ड्राइवर वाली 2500 गाडिय़ों को सडक़ पर चलाने के लिये मंजूरी मांगी है।

जनरल मोटर्स ने इस गाड़ी के लिये अमेरिका के मौजूदा वेहीकल सेफ्टी रूल्स में 16 बदलाव करने की भी मांग की है। अभी अमेरिका में ड्राइवर सीट पर एअरबैग होना जरूरी है लेकिन Cruise AV में बैठे सभी लोग पैसेंजर होंगे और इसमें ड्राइवर का कोई कॉन्सेप्ट ही नहीं है।

हालांकि अमेरिका मेें गूगल की कम्पनी एल्फाबेट इंक की वेमो सहित फोर्ड, वोल्वो, ऊबर आदि दर्जन भर कम्पनियां अपनी driverless car की टेस्टिंग कर रही हैं। लेकिन इन सभी में लायसेंसधारी ड्राइवर मौजूद होना जरूरी है। जनरल मोटर्स क्रूज़ एवी के लिये इस नियम में भी बदलाव चाहती है।

जीएम के प्रेसिडेंट अम्मान का दावा है कि अभी कम्पनी को एक गाड़ी बेचने पर औसत 30 हजार रुपये का रेवेन्यू मिलता है लेकिन क्रूज़ एवी जैसी सेल्फ ड्राइव कार अपनी लाइफ में लाखों डॉलर कमाकर दे सकती है।

Cruise AV में 21 रडार, 16 कैमरा और 5 लिडार सहित जनरल मोटर्स के फोर्थ जेनरेशन सेल्फ ड्राइव सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर लगे हैं। यह सिर्फ प्रीमैप्ड यानी पहले से तय शहरी इलाकों में ही हैंड्सफ्री मोड में चल पायेगी।

क्रूज़ एवी को सान फ्रांसिस्को की स्टार्टअप क्रूज़ ऑटोमेशन ने डवलप किया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here