Datsun Redigo रोकेगी मारुति ऑल्टो, ह्यूंदे इऑन, रेनो क्विड का रास्ता

0
32

datsun Redigo

2014 के ऑटो एक्स्पो में डिस्प्ले Datsun RediGo को डेटसन इंडिया ने लॉन्च कर दिया है। बुकिंग 1 मई से शुरू होंगी और प्राइस की घोषणा जून में की जायेंगी। यह डेटसन गो से नीचे के सैगमेंट में आयेगी और मुकाबले में Renault की बेस्ट सेलर Kwid से लेकर Maruti Alto और Hyundai Eon तक होंगी। Datsun RediGo उसी सीएमएफ-ए प्लेटफॉर्म पर बनी है जिस पर Renault Kwid। रेनो क्विड की शुरूआत 2.57 लाख रुपये से होती है ऐसे में Datsun RediGo की कीमत इससे कम होगी। चर्चा है कि रेडीगो 2.44 लाख रुपये में आयेगी।

रेनो क्विड प्राइस पोजिशनिंग के चलते ना केवल ह्यूंदे इऑन को पीछे छोडऩे में कामयाब रही है बल्कि लॉन्च के शुरूआती छह महिने में ही सवा लाख के करीब बुक हो चुकी हैं।

चूंकि रेनो और इसकी ग्लोबल सहयोगी रेनो के बीच प्रॉडक्ट के साथ ही प्राइस का भी समझौता है ऐसे में रेनो और निसान अपने साझा मॉडलों को अलग-अलग कीमत पर लॉन्च करते हैं।

यदि रेडीगो 2.5 लाख रुपये या इससे कम के सैगमेंट में आती है तो टाटा नैनो के बाद देश की सबसे कम कीमत वाली कार बन जायेगी। इसका सीधा अर्थ है कि एंट्री लेवल कारों के सैगमेंंट में मुकाबला बढ़ेगा और इसका सीधा असर मारुति ऑल्टो और ह्यूंदे इऑन पर नजर आयेगा। साथ ही दावा यह भी है कि डेटसन रेडीगो का मेंटीनेन्स मारुति ऑल्टो के मुकाबले 10-15 फीसदी सस्ता होगा।

Price Comparison: मारुति ऑल्टो की कीमत 256634 रुपये से शुरू होती है जबकि ह्यूंदे इऑन की नई दिल्ली में एक्स-शोरूम कीमत 324840 से शुरू होती है। टाटा जेेनेक्स नैनो की नई दिल्ली में शुरूआती एक्स-शोरूम कीमत 206490 रुपये है। मारुति ऑल्टो और ह्यूंदे इऑन में 800 सीसी के साथ 1000 सीसी का इंजन ऑप्शन भी है। रेनो ने क्विड में हाल ही 1000 सीसी इंजन के साथ एएमटी गियरबॉक्स का विकल्प दिया है।

मारुति ऑल्टो अभी औसत हर महिने 22 हजार बिकती हैं जबकि ह्यूंदे इऑन 5500 और रेनो क्विड छह महिने में करीब चालीस हजार बिक चुकी हैं।

डेटसन रेडीगो में 3 सिलिंडर का 800 सीसी इंजन है। रेडीगो का ग्राउंड क्लीयरेंस 185 मिमी है। कम्पनी की योजना रेडीगो के कस्टम ऑप्शन लॉन्च करने की है।

Datsun RediGo का वजन रेनो क्विड के मुकाबले 25 किलो कम है और लम्बाई 9 मिमी। माना जा रहा है कि कम्पनी सही प्राइस लेवल तक पहुंचने के लिये कुछ फीचर्स में कटौती भी कर सकती है। हालांकि ग्राउंड क्लीयरेंस व व्हील बेस के मामले में रेनो क्विड के मुकाबले डेटसन रेडीगो बेहतर है।

निसान इंडिया के प्रेसिडेंंट गिलामे सिकार्ड के अनुसार डेटसन रेडीगो 200 निसान और 49 डेटसन एक्सक्लूसिव डीलरशिप्स पर मिलेगी। कम्पनी जल्दी ही डीलर नेटवर्क को 300 के लेवल पर ले जाने की कोशिश कर रही है।        

Datsun Targets: निसान के ग्लोबल एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट डेनियले शिलाची के अनुसार 2020 तक निसान और डेटसन का भारत में मार्केट शेयर 5 फीसदी तक पहुंचाने का टार्गेट है। बंद हो चुके डेटसन ब्रांड को निसान ने कोई तीस साल बाद 2013 में फिर से खड़ा किया था। इसका मकसद भारत जैसे उभरते हुये देशों में सेल्स वॉल्यूम और मार्केट शेयर बढ़ाना है। अभी डेटसन कारें भारत, रूस, इंडोनेशिया और साउद अफ्रीका मेंं बिक रही हैं। 2014 में डेटसन की कुल 50 हजार गाडिय़ां बिकी थीं जबकि 2015 में यह बढक़र 86 हजार हो गईं। डेटसन ब्रांड को भारत में लॉन्च करने के समय 2016-17 तक 2 लाख यूनिट्स के वॉल्यूम तक पहुंचने का टार्गेट था लेकिन इन दो सालों में बमुश्किल 50 हजार गाडिय़ां ही बिक पाई हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here