होन्डा एमएसआई बन रही है टू-व्हीलर में मारुति

0
8

Honda_Unicorn_Dazzlerहोन्डा मोटरसाइकल एंड स्कूटर्स इंडिया इस वित्तीय वर्ष का अंत 45 लाख के आंकड़े के साथ करने का लक्ष्य लेकर चल रही है। जापान की होन्डा मोटरसाइकल ने पिछले वर्ष वल्र्ड मार्केट में 1.72 करोड़ यूनिट्स बेची थीं और इस वर्ष 1.82 करोड़ तक पहुंचना चाहती है। इस लिहाज से देखा जाये तो होन्डा मोटरसाइकल की वल्र्ड मार्केट की कुल बिक्री मे होन्डा एमएसआई का योगदान 25 फीसदी तक पहुंच जायेगा। यानि होन्डा एमएसआई टू-व्हीलर में मारुति की कहानी को दोहराने की देहरी तक पहुंच चुकी है।
सुजुकी मोटर कॉर्प ने वल्र्ड मार्केट में पिछले वित्तीय वर्ष में 27.10 लाख कारें बेची थीं और इसमें निर्यात सहित मारुति का योगदान 11.55 लाख यूनिट्स का था। जिनमें से 10.53 लाख मारुति कारें घरेलू बाजार यानि भारत में बिकी थीं। यानि सुजुकी की वल्र्ड मार्केट में हुई कुल बिक्री में से 38.86 फीसदी गाडिय़ां भारत में बिकी थीं।
होन्डा एमएसआई के गुजरात संयंत्र के भूमिपूजन के मौके पर होन्डा मोटर कम्पनी के एशिया ओशियेनिया रीजन के सीओओ नोरिआकी आबे ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा टू-व्हीलर बाजार है ऐसे में कम्पनी के लिये इसकी अहमियत बहुत अधिक है। होन्डा मोटर कम्पनी वित्तीय वर्ष 2014-15 में वल्र्ड मार्केट में 1.82 करोड़ यूनिट्स की बिक्री करने का लक्ष्य लेकर चल रही है और इसमें 45 लाख यूनिट्स यानि 25 फीसदी योगदान भारत का होगा।
दुनिया का सबसे बड़ा स्कूटर प्लांट: गुजरात में कम्पनी ने जिस प्लांट पर काम शुरू किया है यह 12 लाख यूनिट्स का है। 250 एकड़ में बन रहे इस संयंत्र पर 1100 करोड़ रुपये का निवेश होगा। दिसम्बर 2015 तक उत्पादन के लिये तैयार होने वाले इस प्लांट में केवल स्कूटर बनेंगे और यह दुनिया का सबसे बड़ा स्कूटर प्लांट होगा। होन्डा एमएसआई के प्रेसिडेंट और सीईओ के अनुसार भारत में टू-व्हीलर बिक्री में अभी स्कूटर सैगमेंट का हिस्सा करीब 25 फीसदी है लेकिन 5-10 में यह 35 फीसदी तक पहुंच सकता है। इसी मांग को ध्यान में रखते हुये कम्पनी स्कूटर के लिये यह खास प्लांट लगा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here