मारुति अर्टीगा के सामने नहीं टिक पा रही होन्डा मोबिलिओ

0
22

Mobilio

होन्डा ने 7 सीटर एमपीवी मॉडल मोबिलिओ को बडी उम्मीदों के साथ लॉन्च किया था लेकिन शुरूआती छह महिने के सेल्स फिगर्स से लगता है कि यह भी ब्रिओ के रास्ते पर बढ़ रही है और मास एमपीवी सैगमेंट में मारुति अर्टीगा ने मोबिलिओ के हमले की धार को बड़ी आसानी से कुंद कर दिया है।
धुआंधार केम्पेन इट्स माई कार…के साथ कम्पनी ने मोबिलिओ की जुलाई में 3365 यूनिट्स का डिस्पैच किया था और अगस्त में यह अपने पीक 5530 यूनिट्स पर पहुंच गई थी। अगस्त में मोबिलिओ ने मारुति अर्टीगा को अपने मुकाम से बेदखल कर दिया था। लेकिन उसके बाद से मोबिलिओ के डिस्पैच लगातार फिसलते जा रहे हैं। दिवाली के फेस्टिव महिने अक्टूबर में कम्पनी ने 2985 मोबिलिओ बेची जबकि अर्टीगा के डिस्पैच छह हजार यूनिट्स से भी ज्यादा रहे।
हालांकि इंजन, पावर और स्टायलिंग के लिहाज से मारुति अर्टीगा पर मोबिलिओ भारी पड़ती है। अर्टीगा में 1.4 लीटर का पेट्रोल व 1.3 लीटर का डीजल इंजन है। लेकिन मोबिलिओ में दोनों इंजन 1.5 लीटर के हैं जिन्हें कम्पनी बेस्ट सेलर सेडान मॉडल सिटी में भी इस्तेमाल कर रही है।
जुलाई से दिसम्बर के छह महिनों में होन्डा मोबिलिओ की कुल 22957 यूनिट्स की बिक्री हुई। इस लिहाज से कम्पनी ने हर महिने औसत 3826 मोबिलिओ बेची। जबकि मारुति ने जुलाई से दिसम्बर के बीच कुल 34418 यूवी गाडिय़ां बेचीं। कम्पनी के यूवी पोर्टफोलियो में अर्टीगा के अलावा जिप्सी और ग्रांड विटारा शामिल हैं। ग्रांड विटारा की महिने में मुश्किल से एक-दो यूनिट्स बिकती हैं और जिप्सी की 300-400। इस लिहाज से अर्टीगा की हर महिने औसत करीब 5200 यूनिट्स की बिक्री हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here