महिन्द्रा गस्टो: काम की सवारी..शान की सवारी

0
39

Gustoमहिन्द्रा टू-व्हीलर की शुरूआत स्टालियो के रीकॉल और फिर फेज़आउट से हुई लेकिन पिछले 15 महिनों में कम्पनी में बदलाव की बयार बह रही है। सेंट्यूरो बाजार में जम चुकी है और अब गस्टो स्कूटर आया है। गस्ट यानि स्ट्रॉन्ग विंड यानि तेज हवा यानि बदलाव की हवा। गस्टो की जो फीचर पैकेजिंग है उससे लगता है कम्पनी ही नहीं बल्कि पूरे टू-व्हीलर सैगमेंट में बदलाव का दौर शुरू हो सकता है। गस्टो को आप फंक्शनल भी कह सकते हैं और एस्पिरेशनल भी। फंक्शनल यानि काम की सवारी..एस्पिरेशनल यानि शान की सवारी। इसके फीचर पैकेज को आप देखेंगे तो फंक्शनल होने का खुद अंदाजा हो जायेगा वहीं जो लॉन्च केम्पेन इन दिनों टीवी पर आ रहा है उसमें इसे यूथफुल और एस्पिरेशनल सवारी के रूप में पोजिशन किया गया है।
डिजायन के मामले में महिन्द्रा इस 110 सीसी के स्कूटर गस्टो में भी एक्सयूवी500 की तरह कामयाब रही है। बेहद डिस्टिंक्ट यानि खास डिजायन वाले गस्टो के फ्रंट पर ग्रिल और क्रोम बैजिंग इसे स्टायलिश बनाती है। पायलट लैम्प से लैस हैडलाइट से लेकर मडगार्ड तक पूरा फ्रंट एप्रन बेहद डायनामिक है। साइड से देखने पर भी गस्टो बाकी स्कूटरों से अलग नजर आयेगा। मीटर पर भी क्रोम का इस्तेमाल है। मीटर के ठीक नीचे एक छोटा पाउच दिया गया है जिसमें ड्राइविंग के दौरान आप छोटा-मोटा सामान रख सकते हैं। सीट लम्बी-चौड़ी है और लेग स्पेस भी। लेग स्पेस में लगेज हुक है। पीछे चौड़ी एलईडी टेललाइट से अंधेरे में भी गस्टो अलग से पहचान आयेगा।
नया क्या: सीट के अंदर हाइट एडजस्ट करने वाला लीवर दिया गया है। इसे ऊपर करते ही हाइट बढ़ जाती है यानि इसे पुरुष भी आसानी से चला सकते हैं। स्कूटर सैगमेंट में यूथ, मेल, फीमेल, यूनिसैक्स और फैमिली के नाम से कई सैगमेंट हैं लेकिन हाइट एडजस्टमेंट वाले एक फीचर से गस्टो पूरे परिवार की गाड़ी बन जाती है। यानि इसे महिलायें और लड़कियां भी आराम से चला सकती है और पुरुष भी। सबसे बड़ी हाइट एडजस्ट करने के बावजूद हैंडलिंग में कोई परेशानी नहीं आती। इस तरह परिवार के हर सदस्य के लिये अलग-अलग टू-व्हीलर लेने की जरूरत नहीं है। हैडलाइट में एलईडी पायलट लैम्प हैं जो अंधेरे में गाड़ी खड़ी करने के बाद भी कुछ सैकिंड तक चालू रहते हैं जिससे आपको रास्ते देखने में सुविधा हो जाती है। इसी तरह पार्किंग में अपनी गाड़ी को पहचानने के लिये इसमें फाइंड मी अलर्ट दिया गया है। बस चाबी पर बना अलर्ट बटन दबाइये और गाड़ी की लाइट और साइरन बजने लगेंगे। चाबी में छोटी सी टॉर्च है जिससे अंधेरे में की-होल में चाबी लगाने में परेशानी नहीं आयेगी। किक फ्रंट है यानि सीट पर बैठे-बैठे किक लगाई जा सकती है। फ्रंट सस्पेंशन टेलीस्कोपिक है जिसमें एअर स्प्रिंग हैं। इसका ट्रेवल 41 मिमी है यानि ऊबड-खाबड़ रास्तों पर आपको असुविधा नहीं होगी।
इंजन: इसमें 110 सीसी का बिल्कुल नया एम-टेक इंजन है। जिससे 8 बीएचपी पावर और 9 एनएम का टॉर्क मिलता है। इस इंजन को साइलेंट और वाइब्रेशन कम करने के लिये कम्पनी ने साइलेंट चेन का इस्तेमाल किया है। इस इंजन के लिये एआरएआई ने 63 किमी कामायलेज सर्टिफिकेट दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here