फोर्ड के साणंद प्लांट में बनेगी फीगो एस्पायर

0
40

ford-figo-aspire-india

फोर्ड मोटर्स साणंद प्लांट से फीगो एस्पायर को लॉन्च करेगी। इस मॉडल को कम्पनी पिछले ऑटो एक्स्पो में डिस्प्ले किया था। 1.2 लीटर पेट्रोल और 1.5 लीटर डीजल इंजन के अलावा कम्पनी इसे 1.5 लीटर के पेट्रोल इंजन के साथ भी पेश करेगी। फीगो एस्पायर मैन्यूअल और 6-स्पीड ड्यूअल क्लच ऑटोमेटिक ट्रान्समिशन ऑप्शन में पेश की जायेगी।
चार मीटर से कम लम्बाई वाला यह कॉम्पेक्ट सेडान पहला मॉडल होगा जिसका साणंद प्लांट में उत्पादन शुरू होगा। माना जा रहा है कि कम्पनी इसे जून में लॉन्च करेगी और इसके कुछ महिनों बाद इसी का हैचबैक अवतार भी पेश किया जायेगा।
साणंद प्लांट एक अरब डॉलर के निवेश से 3 वर्ष में तैयार हुआ है। कम्पनी के निर्यात के लिहाज से बेहद अहम माने जा रहे इस प्लांट की शुरूआत के मौके पर फोर्ड मोटर कम्पनी के सीईओ मार्क फील्ड्स खुद मौजूद रहे। इस प्लांट के तैयार होने के साथ ही कम्पनी भारत में साल में 4.40 लाख कार और 6.10 लाख इंजन बनाने की स्थिति में होगी।
इस मौके पर मार्क फील्ड्स ने कहा कि फोर्ड के स्मॉल कार मॉडलों के लिये भारत सेंटर ऑफ एक्सीलेंस होगा। यहां वल्र्ड क्लास क्वॉलिटी की गाडिय़ां बनाई जायेंगी जिनका निर्यात होगा। फील्ड्स के अनुसार कम्पनी 5 साल में भारत से अपने एक्सपोर्ट को तीन गुना करना चाहती है ।
चालू वित्तीय वर्ष की अप्रेल से फरवरी की अवधि में फोर्ड ने 71181 मेड इन इंडिया कारों को एक्सपोर्ट किया है जबकि घरेलू बाजार में कम्पनी की बिक्री 10 फीसदी घटकर 69885 यूनिट्स रही।
कम्पनी का मानना है कि फीगो एस्पायर 45 फीसदी मार्केट शेयर वाले कॉम्पेक्ट सैगमेंट में पेश की जायेगी। पिछले वर्ष इस सैगमेंट में 11 लाख यूनिट्स की बिक्री हुई थी। वर्ष 2018 तक इस सैगमेंट का आकार बढक़र 16 लाख यूनिट्स का हो जाने का आंकलन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here