टेस्ट ड्राइव रिव्यू: ह्यूंदे वरना 4एस

0
31

verna1एक साल में मिड सेडान सैगमेंट के हालात बहुत बदल चुके हैं। ढाई-तीन साल तक चुप रहने के बाद होन्डा सिटी फिर हीरो बनने में कामयाब रही है और हर महिने करीब 7 हजार ग्राहकों तक पहुंच रही है। सितम्बर में आई सियाज़ मारुति को पहली बार इस सैगमेंट मेंं कामयाबी मिलने की ओर इशारा कर रही है। होन्डा सिटी और मारुति सियाज़ की बूमिंग बिक्री ने ह्यूंदे वरना से लेकर फोक्सवैगन वेंतो और स्कोडा रैपिड को नुकसान पहुंचाया है। फोर्ड फिएस्टा और फिएट लीनिया सैगमेंट में सिर्फ नाम के लिये मौजूद हैं। इन बदले हालातों के बीच ह्यूंदे ने वरना के अपग्रेड अवतार को वरना 4एस के नाम से लॉन्च किया है।
स्टाइल: वरना 4एस को कम्पनी सॉफिस्टिकेशन, स्टाइल, स्पीड और सेफ्टी का कम्प्लीट पैकेज कह रही है। फेशिया को मैच्यॉर टच देने की कोशिश साफ नजर आती है। क्रोम गार्निश के साथ रेडियेटर ग्रिल अब पहले से कहीं बड़ी है जिससे वरना 4एस का फेस चौड़ा हुआ है। बोनट रिज़ और एंगुलर हैडलैम्प से भी फेशिया बेहतर हुआ है। फोगलैम्प की शार्प डिजायन खींचती है। कुल मिलाकर वरना 4एस के फेस में आपको काफी कुछ ताजा नजर आयेगा लेकिन साइड प्रॉफाइल के साथ ज्यादा छेड़छाड़ नहीं की गई है। ओआरवीएम यानि आउटसाइड रिअर व्यू मिरर में टर्न इंडिकेटर दिये गये हैं। 16 इंच के डायमंड कट अलॉय व्हील से स्पोर्टी फील मिलती है। व्हील आर्च को तराशा गया है वहीं ए से सी पिलर तक एअरोडायनामिक लाइन खींची गई है। पीछे की ओर देखें तो ज्यादा बदलाव नहीं किये गये हैं। टेल लैम्प में खास डिजायन टच दिया गया है जो एलईडी का सा फील देता है। नम्बर प्लेट के ऊपर क्रोम स्ट्रिप है और एक्जॉस्ट अब छुपा हुआ है।
इंटीरियर में भी ब्लैक और बेज टू-टोन डैश बोर्ड है। अपहोल्स्टरी और फिट-फिनिश हमेशा की तरह आपको मायूस नहीं करेगी।
verna3कम्फर्ट: वरना 4एस में कम्पनी ने सबसे ज्यादा फोकस कम्फर्ट और सेफ्टी पैकेज पर रखा है। सबसे नया फीचर अर्गो लीवर का है। जिससे पिछली सीट की सवारी लैग स्पेस को एडजस्ट करने के लिये फ्रंट पैसेंजर सीट को अपनी सुविधा के हिसाब से आगे-पीछे स्लाइड कर सकती है। इसके अलावा ड्राइवर सीट को टिल्ट एडजस्ट करने के लिये भी एक खास फीचर दिया गया है। एसी फुल ऑटोमेटिक है लेकिन रिअर एसी वेंट्स की कमी जरूर खलेगी। रिअर पार्किंग सेंसर, रेन सेंसिंग वाइपर, टिल्ट व टेलीस्कोपिक स्टीयरिंग के अलावा 2-डिन म्यूजिक सिस्टम में 1 जीबी का इंटरनल मैमोरी स्पेस आदि कई फीचर हैं जो कम्फर्ट के मामले में वरना 4एस को अच्छा पैकेज बनाते है।
सेफ्टी:
एबीएस यानि एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम अब वरना 4एस के सभी वैरियेंट्स में स्टेन्डर्ड फीचर है। टॉप एंड वैरियेंट में 6 एअरबैग मिल जायेंगे। रिअर पार्किंग असिस्ट है जिसका कैमरा डिस्प्ले अंदर के रिअर व्यू मिरर पर होता है। हैडलैम्प में फोलो मी का फीचर है जिससे गाड़ी पार्क करने के एक-आध मिनट तक हैडलैम्प चालू रहते हैं जिससे आपको रास्ता पहचानने में सुविधा हो जाती है। इसी तरह इम्पेक्ट सेंसिंग डोर अनलॉक का भी फीचर है जिससे एक्सीडेंट की स्थिति में दरवाजे अपने आप अनलॉक हो जाते हैं।

verna price comparisonइंजन: वरना को कम्पनी ने पेट्रोल व डीजल में दो-दो ऑप्शन के साथ पेश किया है। दोनों में बेस वैरियेंट 1.4 लीटर इंजन के साथ है वहीं हायर वैरियेंट्स में 1.6 लीटर के इंजन हैं। 1.4 लीटर पेट्रोल इंजन से 107 पीएस पावर और 13.8 किलोग्राम का टॉर्क मिलता है। इस इंजन के लिये कम्पनी ने 17.43 किमी के मायलेज का दावा किया है। 1.6 लीटर पेट्रोल इंजन का पावर आउटपुट 123 पीएस और इसका मायलेज 17.01 किमी है। डीजल में 1.4 लीटर इंजन से 90 पीएस पावर और 22.4 केजी का टॉर्क मिल सकता है। 1.6 लीटर डीजल इंजन का पावर आउटपुट 128 पीएस है। इन दोनों इंजनों का मायलेज 23.90 और 24.80 किमी है। पेट्रोल व डीजल दोनों इंजन ऑप्शन में कम्पनी ने एक-एक 4-स्पीड ऑटो ट्रान्समिशन वैरियेंट का विकल्प दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here