जुलाई सेल्स: पैसेंजर बेहतर, कमजोर 2-व्हीलर

0
24

PV_Page_1जुलाई के फिगर कार कम्पनियों के लिये राहत की खबर लाये हैं। कम्पनियों को उम्मीद है कि मानसून की देशभर में अच्छी बारिश, नये लॉन्च और फ्यूल की कीमतों में आई कमी के कारण आगे के महिनों में फेस्टिव सीजन के चलते डीलर डिस्पैच में बढ़ोतरी होगी।
जिन सात कार कम्पनियों के जुलाई के डीलर डिस्पैच के फिगर आये हैं उनमें से सिर्फ महिन्द्रा ही ऐसी है जिसकी सेल्स में गिरावट हुई और इसका कारण नये मॉडलों की कमी है।
टाटा मोटर्स के पीवी बिजनस के अध्यक्ष मयंक पारीक कहते हैं कि जुलाई में कार कम्पनियों की सेल्स 13 फीसदी बढऩे का आंकलन है।
मारुति सुजुकी ने जुलाई में डॉमेस्टिक मार्केट में 110405 गाडिय़ां बेचीं जो पिछले वर्ष जुलाई में हुई 90093 यूनिट्स की सेल्स के मुकाबले 22.55 फीसदी का भारी उछाल है। कम्पनी को सबसे ज्यादा फायदा ऑल्टो और वैगन-आर वाले मिनी कार सैगमेंट में हुआ है। जून में ऑल्टो और वैगन-आर के डिस्पैच 31.3 फीसदी की बढ़त के साथ 37752 रहे। कॉम्पेक्ट सैगमेंट में भी कम्पनी की सेल्स 13.9 फीसदी बढक़र 48381 यूनिट्स रही। कैब सैगमेंट की पोजिशनिंग वाली डिज़ायर टूर की 3370 यूनिट्स की बिक्री से लगता है कि यह टाटा इंडिगो और टोयोटा ईटिओस के मार्केट में तगड़ी सेंध लगाने में कामयाब रही है। लेकिन सियाज़ की सिर्फ 2099 यूनिट्स के डिस्पैच हुये। अर्टीगा और जिप्सी वाले यूवी सैगमेंट में 6916 यूनिट्स की बिक्री हुई जो पिछले वर्ष जुलाई के मुकाबले 22 फीसदी ज्यादा है। वैन सैगमेंट में कम्पनी को 1.8 फीसदी का फायदा हुआ। जुलाई में मारुति ने डॉमेस्टिक मार्केट में कुल 110405 गाडिय़ां बेचीं।
मास यूवी सैगमेंट में अपना पहला मॉडल क्रेटा लॉन्च करने वाली ह् यूंदे की जुलाई में सेल्स 24.68 फीसदी बढक़र 36500 यूनिट्स रही। कम्पनी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट राकेश श्रीवास्तव के अनुसार क्रेटा, इलीट आई-20 और आई-20 एक्टिव को अच्छा रेस्पॉन्स मिला है।
पहले महिने में ही जैज़ होन्डा का बेस्ट सेलर मॉडल बनकर उभरी है। जैज़ के डिस्पैच जून में शुरू हुये थे और शुरूआती दो महिनों में कम्पनी ने 9 हजार के करीब जैज़ डीलरों को भेजी हैं। कम्पनी ने जैज़ का उत्पादन बढ़ाने के लिये ब्रिओ और मोबिलिओ का प्रॉडक्शन एडजस्ट किया है। जुलाई में कम्पनी की कुल बिक्री 18606 यूनिट्स रही जो पिछले वर्ष जुलाई में हुई 15709 यूनिट्स की बिक्री के मुकाबले 18.44 फीसदी अधिक है।
महिन्द्रा के पोर्टफोलियो में नये मॉडल की कमी अब भारी पडऩे लगी है। अगले महिने कम्पनी टीयूवी300 के नाम से 4 मीटर से कम लम्बाई की कॉम्पेक्ट यूवी लॉन्च करेगी। जुलाई में महिन्द्रा ने डॉमेस्टिक मार्केट में 14456 पैसेंजर गाडिय़ां बेचीं जो पिछले साल जुलाई में हुई सेल्स के मुकाबले 12.75 फीसदी कम है।
टाटा मोटर्स की सेल्स 13.33 फीसदी बढक़र 10389 यूनिट्स रही। वहीं टोयोटा की 1.25 फीसदी की मामूली बढ़त के साथ 12070 यूनिट्स रही। फोक्सवैगन रिकवरी के रास्ते पर है और लगातार कई महिने से कम्पनी की बिक्री में सुधार हो रहा है। जुलाई में फोक्सवैगन की सेल्स 18.19 फीदी बढक़र 4029 यूनिट्स रही।
निसान, रेनो, स्कोडा और जीएम ने जुलाइ के फिगर्स अभी रिलीज़ नहीं किये हैं।
2W_Page_2टू-व्हीलर सैगमेंट में हीरो, होन्डा, यामहा और बजाज के नये मॉडल लॉन्च करने के बावजूद सेल्स में दबाव साफ नजर आ रहा ह। हीरो मोटोकोर्प की सेल्स करीब 8 फीसदी गिरकर 489580 यूनिट्स रह गई। हालांकि माना जा रहा है कि कम्पनी को ज्यादातर नुकसान स्कूटर सैगमेंट में हुआ है। होन्डा टू-व्हीलर बहुत अग्रेसिव होकर पोर्टफोलियो और नेटवर्क दोनों का विस्तार कर रही है। हाल के महिनों में कम्पनी ने यूनिकॉर्न 160 और लिवो के नाम से नये बाइक मॉडल पेश किये हैं लेकिन ड्रीम रेंज की कमजोरी के कारण कुल सेल्स 2.03 फीसदी की बहुत मामूली बढ़ोतरी के साथ 371381 यूनिट्स रही। बजाज ऑटो की निर्यात सहित कुल बाइक सेल्स 5.45 फीसदी की बढ़त के साथ 282433 यूनिट्स रही। जिक्सर को मिल रहे अच्छे रेस्पॉन्स का फायदा सुजुकी को मिल रहा है कम्पनी ने जुलाई में 33.05 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 36081 गाडिय़ां बेचीं। रॉयल एनफील्ड की सेल्स डेढ़ गुनी होकर 40 हजार के लेवल के करीब पहुंच गई। *किसी से कम नहीं* केम्पेन का फायदा महिन्द्रा के हुआ है और कई महिनों तक दस हजार यूनिट्स के स्तर पर रहने के बाद जुलाई में कम्पनी ने 12708 गाडिय़ां बेचीं। हालांकि यह केम्पेन से पहले डिस्पैच किये गये सीड स्टॉक का भी असर है। वास्तव में रिटेल सेल्स का अंदाजा बाद में हो पायेगा।
सैल्यूटो बाइक और फैसिनो स्कूटर के शुरूआती महिनों के डिस्पैच का यामहा को फायदा हुआ है और कम्पनी की सेल्स 16.52 फीसदी बढक़र 58591 यूनिट्स रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here