ज़ेस्ट के साथ होगी टाटा की नई शुरुआत

0
52

tata zest

इन दिनों अखबारों में रेवोट्रॉन इंजन के विज्ञापन छप रहे हैं। टीवी पर भी तगड़ा केम्पेन चल रहा है। देश के 15 शहरों में टाटा मोटर्स रेवोट्रोन लैब आयोजित कर रही है। जिनमें रेवोट्रोन गेमिंग और इंटेरेक्टिव इंटरफेस के जरिये टाटा मोटर्स की पुरानी पहचान को बदलने की कोशिश है। 1.2 लीटर का ये टर्बो चार्ज पेट्रोल इंजन है जिससे 85 बीएचपी पावर मिलती है। टाटा को हमेशा से डीजल मॉडलों के लिये जाना जाता है लेकिन अब बाजार की चाल बदलकर पेट्रोल की ओर हो रही है। अगले महिने टाटा मोटर्स नया मॉडल ज़ेस्ट ला रही है ये नैनो के बाद पांच वर्ष में कम्पनी का पहला नया मॉडल है।
मारुति डिज़ायर, होन्डा अमेज़ और ह्यूंदे एक्सेंट के कॉम्पेक्ट सेडान सैगमेंट में आने वाले मॉडल ज़ेस्ट के साथ इस इंजन को पहली बार पेश किया जायेगा। सिर्फ इंजन ही नहीं ज़ेस्ट के साथ कम्पनी नई डिजायन लैंगुएज, मारुति सेलेरियो जैसी ऑटो मैन्यूअल टेक्नोलॉजी और 3 ड्राइविंग मोड सहित कई नये फीचर्स को पहली बार मास सैगमेंट में ला रही है। टाटा मोटर्स के यंग चेअरमैन साइरस मिस्त्री कहते हैं कि कम्पनी इन्फ्लेक्शन पॉइंट पर है। इन्फ्लेक्शन पॉइंट यानि जहां से रास्ते बदलते हैं। इन दिनों टाटा मोटर्स के शोरूम्स की भी कायापलट हो रही है। नया इंटीरियर, बेहतर डिस्प्ले और नई सेल्स व आफ्टर सेल्स प्रॉसेस। ऑटो एक्स्पो में फरवरी में कम्पनी ने जिस ज़ेस्ट को डिस्प्ले किया था वो कोई कॉन्सेप्ट नहीं बल्कि प्रॅाडक्शन मॉडल ही था। कम्पनी चाहती तो ज़ेस्ट को काफी पहले लॉन्च कर सकती थी लेकिन नैनो लॉन्चिंग की जल्दबाजी में जो डैमेज हो चुका है टाटा मोटर्स अब हर कीमत पर उसे सुधारना चाहती है। ज़ेस्ट अगस्त में बाजार में आ जायेगी। फिएट के मल्टीजेट डीजल इंजन के साथ रेवोट्रोन पेट्रोल इंजन विकल्प भी मिलेगा। कम्पनी अब प्राइस प्लैंक को छोडऩा चाहती है क्योंकि नैनो के मामले में ये बैकफायर कर चुका है। कोशिश है कि ज़ेस्ट और इसके साथ आने वाले हैचबैक मॉडल बोल्ट को प्राइस नहीं प्रॉडक्ट पैकेजिंग व प्रोमोशनल केम्पेन के जरिये बेचा जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here